इस्लामाबाद (आईएएनएस)। पाकिस्तान हर तरह से भारत के साथ अपने संबंध सुधारने की कोशिश कर रहा है। एक कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए मंगलवार को पाकिस्तान की विदेश सचिव तेहमिना जंजुआ ने कहा कि इस्लामाबाद भारत के नकारात्मक रवैये के बावजूद अपने पड़ोसी मुल्क के साथ शांति प्रयासों को जारी रखेगा। इसके बाद समारोह में भारत के साथ पाकिस्तान के संबंधो पर उन्होंने कहा कि भारत के मन में हमारे प्रति बहुत घृणा है। इससे पाकिस्तान-भारत के संबंध कभी नहीं सुधरेंगे और दक्षिण एशिया का भी विकास रुका रहेगा। इसके अलावा विदेश सचिव ने यह भी बताया कि भारत ने इस्लामाबाद में होने वाले सार्क शिखर सम्मेलन में भाग लेने से भी इनकार कर दिया है, जो एक तरह से अच्छा संकेत नहीं है।

भारत की ओर से नहीं मिल रही प्रतिक्रिया

इसके बाद भारत को लेकर पाकिस्तान में नई सरकार की पॉलिसी पर चर्चा करते हुए जंजुआ ने कहा कि इमरान खान देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने भारत के एक कदम बढ़ाने पर अपने दो कदम बढ़ाने की बात कही। उन्होंने कहा कि खान ने अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी को लिखे अपने पत्र में सभी मुद्दों पर चर्चा करने की इच्छा व्यक्त की लेकिन दुर्भाग्य से हमें उधर से ऐसी कोई प्रतिक्रिया नहीं देखने को मिली। बता दें कि पाकिस्तान में सत्ता संभालने के बाद पीएम इमरान खान हर तरह से भारत के साथ संबंध सुधारने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन इस मामले में भारत का कहना है कि जब तक पाकिस्तान अपनी तरफ से हमले को रोकता नहीं है, तब तक संबंध पर कोई बातचीत नहीं होगी।

ट्रंप के आरोपों पर इमरान का पलटवार, अपनी नाकामयाबियों के लिए पाकिस्तान को बलि का बकरा ना बनाएं

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk

inext-banner
inext-banner