-बालू खनन में घाटा होने पर पैसे को लेकर बना रहे थे दबाव, दे रहे थे धमकी

PRAYAGRAJ: अल्लापुर क्षेत्र निवासी ठेकेदार राजेश कुमार सिंह उर्फ मुन्ना ने सिर्फ घाटे की वजह से सुसाइड नहीं किया. आत्महत्या के लिए उन्हें इतना मजबूर किया गया कि उन्होंने फांसी के फंदे पर लटककर जान दे दी. ठेकेदारी और खनन का काम करने वाले उनके पार्टनर ही उनका उत्पीड़न कर रहे थे. उन्हें आए दिन जान से मारने की धमकियां मिल रही थीं. इतना ही नहीं, उन पर प्रेशर डाल रहे पार्टनर ठेकेदार राजेश का लाखों का सामान भी उठा ले गए थे. राजेश के ठेकेदार पिता रणजीत सिंह ने मामले में 11 लोगों के खिलाफ जार्जटाउन थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है. सभी आरोपित राजेश के पार्टनर थे. पुलिस का कहना है कि पूछताछ के बाद ही सही स्थिति सामने आएगी.

कौशाम्बी में लिए थे खनन का पट्टा

जार्जटाउन के अल्लापुर स्थित नेता चौराहा निवासी ठेकेदार रणजीत सिंह के बेटे राजेश कुमार सिंह ने मंगलवार दोपहर कमरे में फांसी लगा लिया था. परिजन उन्हें दारागंज एरिया स्थित एक प्राइवेट हॉस्पिटल ले गए थे. जहां डॉक्टरों ने राजेश को मृत घोषित कर दिया था. सुसाइड की वजह डिप्रेशन बताया गया था. राजेश के पिता रणजीत सिंह की गिनती पीडब्ल्यूडी के बड़े ठेकेदारों में होती है. बताते हैं कि राजेश ने कई ठेकेदारों के साथ मिलकर कौशांबी के पश्चिमशरीरा डेढ़ावल यमुना घाट के गाटा संख्या 3/4 पर बालू खनन का ठेका लिया था. यह ठेका मेसर्स आरए एण्ड सन्स प्रो. राजेश कुमार सिंह उर्फ मुन्ना के नाम मार्च 2018 में स्वीकृत हुआ था. इसमें राजेश के कई ठेकेदार दोस्त पार्टनर थे. बताते हैं कि बालू खनन में राजेश को काफी नुकसान हुआ. ऐसे में पार्टनर राजेश पर पैसा वापस करने का दबाव बना रहे थे. राजेश घाटे की बात करते हुए इंतजार करने को कहा था. इस पर उसे आए दिन धमकियां दी जा रही थीं.

दो आरोपित कौशाम्बी एक एमपी का

राजेश के पिता रणजीत सिंह ने जार्जटाउन थाने में मंगलवार रात करीब एक बजे 11 ठेकेदारों के खिलाफ बेटे का उत्पीड़न करने, धमकी देने, वसूली करने, जबरन सामान लाखों का सामान उठा ले जाने और हत्या के लिए प्रेरित करने की रिपोर्ट दर्ज करा दिया है. जार्जटाउन पुलिस ने ठेकेदार बाहुल द्विवेदी, अवधेश दुबे, जब्बर सिंह पटेल, संजय तोमर, वीरेंद्र सिंह पता अज्ञात, विजय सिंह निवासी ग्राम टेंवा, मंझनपुर, कौशांबी, कुलदीप सिंह उर्फ बाबूजी निवासी अज्ञात, प्रभात पटेल निवासी पश्चिम शरीरा, कौशांबी, जीएन सिंह, अरविंद सिंह निवासी अज्ञात और सूरज सिंह निवासी छतरपुर, मध्य प्रदेश के खिलाफ नामजद केस दर्ज कर लिया है.

वर्जन

आरोपित ठेकेदारों का महज मोबाइल नंबर है. जो मोबाइल नंबर दिए गए हैं वह बंद बता रहे हैं. जांच के बाद ही मामले में कुछ आगे कहा जा सकता है. पूछताछ के लिए आरोपितों की तलाश की जा रही है.

-सुनील सिंह, इंस्पेक्टर जार्जटाउन