11 महीने से नहीं है बिजली का थ्री फेज कनेक्शन

सर्वर डाउन होने की समस्या भी बड़ी परेशानी


MEERUT : अगर आपके अंदर घंटों इंतजार करने का सब्र है या आपको जनरेटर चलाना आता है तभी कैंट स्थित पासपोर्ट ऑफिस में आपका पासपोर्ट बन पाएगा. ये कोई शर्त नहीं बल्कि पासपोर्ट ऑफिस की व्यवस्था है. जिससे रोजाना आवेदकों को यहां दो-चार होना पड़ता है. कभी कोई आवेदक जनरेटर चलाकर अपना पासपोर्ट बनवाने के लिए अप्लाई करता नजर आता है तो कभी कोई आवेदक बिजली न होने के चलते घंटों इंतजार करके वापस चला जाता है.


मंगलवार को हुआ था बवाल

कैंट स्थित पासपोर्ट ऑफिस में मंगलवार को पासपोर्ट बनवाने पहुंचे सैकड़ों आवेदकों ने विभाग में जमकर हंगामा किया था. हंगामे की खबर पाकर पूर्व विधायक डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी भी पासपोर्ट ऑफिस पहुंचे थे. इस दौरान आवेदकों ने विभाग में कर्मचारियों पर काम न करने का आरोप भी लगाया और जनरेटर होने के बावजूद बिजली न होने का बहाना बनाने का आरोप भी लगाया. कुछेक आवेदकों ने तो हंगामा करते हुए ये भी आरोप लगाया कि कर्मचारियों ने उनसे कहा कि जनरेटर चलाना आता है तो चला दो, बिजली आ जाएगी और सबका काम हो जाएगा.


थ्री फेज कनेक्शन नहीं

पासपोर्ट ऑफिस बने एक साल होने को है लेकिन यहां बिजली की मुकम्मल व्यवस्था के लिए थ्री फेज कनेक्शन की व्यवस्था तक नहीं है. जिस कारण यहां आने वाले आवेदकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है.


नेटवर्क भी बड़ी समस्या

पासपोर्ट ऑफिस में बिजली के अलावा नेटवर्क भी बड़ी समस्या है. इसका बड़ा कारण कैंट में मोबाइल टावर्स का न होना भी है. इसी का फायदा उठाकर कई बार विभागीय कर्मचारी भी आवेदकों को सर्वर डाउन होने की बात कहकर उनका काम कल पर टाल देते हैं.

 

पासपोर्ट आफिस में सभी चीजों की व्यवस्था करने की जिम्मेदारी डाक विभाग को दी गई थी लेकिन अब डाक विभाग जिम्मेदारी से पीछे हट रहा है.

दीपक चंद्रा, सहायक पासपोर्ट अधिकारी

 

पासपोर्ट बनवाने के लिए कई दिन से लगातार आ रहा हूं. पहले कोई आवेदक जनरेटर चला देता था लेकिन अब जनरेटर भी खराब है. अब तो कभी यहां लाइट नहीं होती तो कभी यहां सर्वर डाउन हो जाता है.

सोनू

 

पासपोर्ट कार्यलय का हल तो बहुत बुरा है. यहां कर्मचारी बिजली जाने पर जनरेटर नहीं चलाते बल्कि आवेदकों से कहते हैं कि उन्हें चलाना आता है तो चला दें, सबका काम हो जाएगा.

राहुल