400 लर्निग डीएल के आवेदन आरटीओ ऑफिस में डेली

250 लर्निग डीएल के आवेदन एआरटीओ ऑफिस में डेली

8 हजार आवेदन लर्निग लाइसेंस के पहले हर माह

19 हजार आवेदन अब लर्निग लाइसेंस के आ रहे

- 1 सितंबर के बाद लगातार बढ़ती जा रही है डीएल के आवेदकों की संख्या

- अगस्त और सितंबर माह में आवेदनों की संख्या में दिखा बड़ा अंतर

sanjeev.pandey@inext.co.in

LUCKNOW: इसे चालान का खौफ ही कहा जाएगा कि डीएल के आवेदकों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है. 1 सितंबर को मोटर कार संशोधित बिल लागू होने के बाद डीएल बनवाने के लिए आरटीओ ऑफिस में भीड़ लगातार बढ़ती जा रही है. अगस्त माह की तुलना में सितंबर में 116 फीसद अधिक लोग डीएल बनवाने यहां आए हैं. विभागीय अधिकारियों के अनुसार ये सब मोटर कार संशोधित बिल में किए गए भारी जुर्माने के प्रावधान के कारण हो रहा है.

रोज लगती है भीड़

विभागीय अधिकारियों के अनुसार 1 सितंबर को जारी गाइड लाइन के अनुसार बिना लाइसेंस वाहन चलाने पर 10 हजार रुपए जुर्माने का प्रावधान किया गया है. इसी जुर्माने से बचने के लिए आरटीओ ऑफिस में लर्निग लाइसेंस बनवाने वालों की भारी भीड़ जुट रही है. आलम यह है कि जहां 1 सितंबर से पहले हर माह करीब 8 हजार आवेदन लर्निग लाइसेंस के लिए आते थे, वहीं अब इनकी संख्या 19 हजार प्रति माह को पार कर चुकी है. नई उम्र या फिर स्टूडेंट इसके लिए ज्यादा आवेदन कर रहे हैं.

कोट

1 सितंबर के बाद आरटीओ ऑफिस में डीएल के लिए भीड़ बढ़ना शुरू हो गई है. अगस्त की तुलना में सितंबर में 10 हजार अधिक लोग डीएल बनवाने आए हैं.

संजय तिवारी, एआरटीओ प्रशासन

बाक्स

आरटीओ ऑफिस, ट्रांसपोर्ट नगर में लर्निग डीएल के आवेदन

माह कुल आवेदन

अगस्त 8899

सितंबर 19282

एआरटीओ ऑफिस, ट्रांसगोमती में लर्निग डीएल के आवेदन

माह कुल आवेदन

अगस्त 3047

सितंबर 7487

बाक्स

लर्निग डीएल की फीस एक नजर में

टू व्हीलर की फीस- 200 रुपए

फोर व्हीलर की फीस- 200 रुपए

संयुक्त फीस- 350 रुपए

बॉक्स

इसे भी जानें

-- संशोधित बिल में बिना डीएल वाहन चलाने पर 10 हजार जुर्माना.

- यूपी में पहली बार बिना डीएल वाहन चलाते पकड़े जाने पर ढाई हजार और दोबारा पकड़े जाने पर 5 हजार जुर्माना.

- आवेदकों को दो माह के अंदर का टाइम स्लॉट मिलता है

- अब इस समय चार माह का टाइम स्लॉट मिल रहा है