-पुलवामा हमले के विरोध में आला हजरत की दरगाह पर किया प्रदर्शन

bareilly@inext.co.in

BAREILLY: सुन्नी बरेलवियों के मरकज दरगाह आला हजरत से पुलवामा में हुए आतंकी हमले का बदला लेने की मांग उठी है. मंडे को दरगाह आला हजरत परिसर में बड़ी तादात में लोग जमा हुए और सभी ने एक आवाज में हिंदुस्तानी जवानों पर कातिलाना और जानलेवा हमले का विरोध किया. केंद्र सरकार से सैनिकों के खून का बदला लेने की मांग की. सज्जादानशीन मुफ्ती अहसन मियां ने मुल्क में अमन-ओ-अमान और आतंकवाद के खात्मे की दुआ की.

देश के लिए जान देने को तैयार
दरगाह आला हजरत पर दरगाह प्रमुख मौलाना सुब्हान रजा खान सुब्हानी मियां की सरपरस्ती और सज्जादानशीन मुफ्ती अहसन रजा कादरी की सदारत में सुन्नी बरेलवी सूफी विचारधारा रखने वाले आलिम, मुफ्तियोंए बुद्धजीवियों, धर्मगुरुओं व मदरसा मंजर ए इस्लाम के छात्रों ने दरगाह पर जोरदार विरोध प्रदर्शन किया. छात्रों ने स्लोगन लिखी तख्तियां लेकर दहशतगर्दी बंद करो, आतंकवाद मुर्दाबाद, हिंदुस्तानी सैनिकों तुम संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ हैं, हिंदुस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए.

हम सैनिकों के साथ
दरगाह प्रमुख सुब्हानी मियां ने कहा कि पुलवामा में हमारे सैनिकों के साथ जो दर्दनाक हादसा हुआ है, उसने पूरे मुल्क को हिलाकर रख दिया है. हम बहादुर सैनिकों के परिवार वालों के साथ हैं. मदरसा मंजर ए इस्लाम के प्रधानाचार्य मु़फ्ती अकिल रजवी ने कहा कि मुल्क को आज खून खराबा करने वाले संगठनों से मुक्त कराने के लिए एक सामूहिक अभियान चलाने की जरूरत है. मदरसा शिक्षक मास्टर कमाल ने हुकूमत से सख्त कदम उठाने की मांग की.

ये रहे मौजूद
मुफ्ती कफील, मुफ्ती सलीम नूरी, मुफ्ती अय्यूब, कारी रिजवान, कारी अब्दुल हकीम, मौलाना शाकिर अली, मौलाना तय्यब, मौलाना अख्तर, मुफ्ती अफरोज आलम, ज़ुबैर रजा खान, हाजी जावेद खान, नासिर कुरैशी, अबरार उल हक, मास्टर इरफान, तारिक सईद, शाहिद नूरी परवेज नूरी, औरंगजेब नूरी, अजमल नूरी, आलेनबी, ताहिर अल्वी, मुजाहिद बेग, सय्यद माजिद, यामीन नूरी, मंज़ूर खान आदि लोग मौजूद रहे.