- व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर शहरवासियों को जोड़ा जा रहा, सोशल मीडिया पर भी चल रही मुहिम

- रविवार को कैंडिल मार्च निकालने की तैयारी, छह अक्टूबर को हुई थी विवाहिता की मौत

आगरा. विवाहिता मानसी को इंसाफ दिलाने के लिए जनमानस लामबंद होना शुरू हो गया है. सोशल मीडिया पर आवाज उठाई जा रही है. व्हाट्सएप पर ग्रुप बनाकर शहरवासियों को जोड़ा जा रहा है. कैंडिल मार्च से लेकर अन्य कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार की जा रही है, जिससे मानसी को इंसाफ दिलाया जा सके.

व्हाट्सप ग्रुप से जुड़े सैकड़ों लोग

मानसी की मौत के बाद कमलानगर के लोग सोशल मीडिया पर सक्रिया हो गए हैं. वह मानसी के पति गौरव चिटकारा पर हत्या करने का आरोप लगा रहे हैं. गौरव एक प्रशासनिक अधिकारी के स्टेनो हैं. उसे न्याय दिलाने के लिए व्हाट्सएप पर ग्रुप बनाया गया है, जिसमें एक के बाद एक कर सैकड़ों लोग जुड़ रहे हैं. मानसी को न्याय दिलाने की मांग कर रहे हैं. रविवार को कैंडिल मार्च निकाला जाएगा. मार्च श्रीराम चौक से शुरू होकर मुख्य मार्केट तक जाएगा.

लेन-देन को लेकर विवाद

कमला नगर के मीनाक्षीपुरम में रहने वाली मानसी का विवाह करीब पांच वर्ष पहले सदर के कावेरी विहार में रहने वाले गौरव चिटकार के साथ हुआ था. मानसी की परिजन सविता चोपड़ा ने बताया कि शादी के बाद से ही लेन-देन को लेकर अक्सर विवाद होता था. इसमें समाज के कुछ लोगों ने बैठकर राजीनामा करा दिया. कुछ दिन तक ठीक रहा, लेकिन उसके बाद फिर मानसी से मारपीट शुरू कर दी. छह अक्टूबर को परिजनों को सूचना मिली कि मानसी ने फांसी लगाने की कोशिश की है. उसे आनन-फानन में हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. गंभीर हालत देख ससुरालीजन मौके से भाग निकले. इधर, मानसी की उपचार के दौरान मौत हो गई. इस संबंध में पहले जानलेवा हमले में मुकदमा कायम किया गया, जो बाद में दहेज हत्या में बदल दिया गया. मानसी की मौत के बाद से ससुरालीजन फरार चल रहे हैं. इस मामले की जांच सीओ वीआईपी को सौंपी गई है.