गंगा का जलस्तर 71.53 मीटर पार

दो घंटे में बढ़ रही एक सेंमी गंगा

varanasi@inext.co.in

VARANASI

वाराणसी में हर दो घंटे में बाढ़ खतरनाक होती जा रही है. गुरुवार रात आठ बजे तक गंगा का जलस्तर 71.53 मीटर तक पहुंच गया. ध्यान रहे कि बुधवार को नदी का जलस्तर खतरे के निशान 71.26 मीटर को लांघ चुका है. हर दो घंटे में एक सेंटीमीटर बढ़ रही गंगा की चपेट में आने से 30 से अधिक गांव डूब चुके हैं. वरुणा पार और सामने घाट इलाके के लोग पलायन करने को मजबूर हैं. उल्लेखनीय है कि गंगा ने वर्ष 2013 और 2016 में इसी तरह विकराल रूप धारण करते हुए खतरे का निशान पार किया था. वर्तमान में खतरे के निशान से 28 सेंटीमीटर ऊपर बह रही गंगा का जलस्तर इसी तरह अगले चौबीस घंटे तक बढ़ता रहा तो कई अन्य कालोनी भी बाढ़ की चपेट में आ सकती हैं जिससे स्थिति काफी भयावह हो जाएगी. बाढ़ के इस विकराल रूप को देख लोगों को वर्ष 1978 की बाढ़ का डर सताने लगा है जब गंगा का जलस्तर 73.901 मीटर पह़ुंचने से वाराणसी में हाहाकार मच गया था.

जायजा लेने अाएंगे सीएम

पूवरंचल में बाढ़ से बिगड़ते हालात पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार नजर बनाए हुए हैं. सीएम योगी शुक्रवार को प्रभावित इलाकों का दौरा करेंगे जिनमे वाराणसी भी शामिल है. सीएम योगी प्रयागराज में बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करने के दोपहर बाद बनारस आएंगे. इस दौरान मुख्यमंत्री लंका स्थित सामने घाट, सरैया, कोनिया सहित अन्य इलाकों का निरीक्षण करेंगे. सीएम योगी आदित्यनाथ ने इससे पहले 17 सितम्बर को बलिया जिले का दौरा किया था. जहां उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों को बाढ़ पीडि़तों को हरसंभव मदद करने का आदेश दिया था. 12 घंटे के अंदर सभी पीडि़तों को जितना नुकसान हुआ है, मुआवजे का भुगतान किया जाएगा.

डीएम ने बाढ़ पीडि़तों में बांटी राहत सामग्री

डीएम सुरेन्द्र सिंह ने गुरुवार को एनडीआरएफ की टीम के साथ भैसासुर घाट से राहत अभियान शुरू कर पानी डूबे मकानों की छतों और ऊपरी मंजिल पर फंसे लोगों तक़ राहत सामग्री पहुंचाई. दो मोटर बोट पर राहत सामग्री बांटते हुए डीएम गंगा नदी के घाटों से रामपुर, ढ़ाब, कोनिया होते हुए वरुणा नदी के शास्त्री घाट तक पहुंचे. भ्रमण के दौरान चिरईगांव के प्राथमिक विद्यालय रामपुर में बनाये गये बाढ़ राहत शिविर में खाद्य पदाथरें सहित आवश्यक सामग्रियों के पैकेट वितरित किए. बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित कैंपो तक पहुंचाने का कार्य लगातार जारी है. जहां से भी सूचना प्राप्त हो रही है वहां त्वरित रेस्क्यू टीम पहुंच कर लोगों को निकाल कर कैम्प में पहुंचा रही है. राहत मुहैया कराने में एसएसपी आनंद कुलकर्णी, एडीएम प्रशासन राजेश श्रीवास्तव, एडीएम सिटी विनय सिंह, एसडीएम सदर महेंद्र श्रीवास्तव सहित सभी संबंधित अधिकारी भी जुटे रहे.