kanpur@inext.co.in
KANPUR: पीएचडी सेंटर सिर्फ ऐडेड व गवर्नमेंट डिग्री कॉलेजो में ही बनाए जाएंगे. अगर किसी ऐडेड कॉलेज में सिर्फ यूजी की क्लासेस चलती हैं तो उसे पीएचडी का सेंटर नहीं बनाया जाएगा. जिस ऐडेड कॉलेज में सेल्फ फाइनेंस के कोर्स चल रहे होंगे उन सब्जेक्ट में पीएचडी नहीं कराई जाएगी. पीएचडी कराने का पूरा प्लान विश्वविद्यालय एडमिनिस्ट्रेशन जल्द ही फाइनल कर देगा.

गाइड का ब्यौरा भी तैयार हो रहा
सीएसजेएमयू प्रशासन काफी समय बाद पीएचडी वर्क शुरू करने की तैयारी जोर शोर से कर रहा है. करीब 8 साल बाद एक बार फिर पीएचडी की प्रक्रिया शुरू होगी. आर्डिनेंस पास होने के बाद विवि प्रशासन अपनी प्रवेश परीक्षा कराएगा. सीएसजेएमयू की पीएचडी प्रवेश परीक्षा फरवरी के लास्ट वीक में आयोजित कराने की तैयारी की गई है. यूनिवर्सिटी करीब 35 सब्जेक्ट में पीएचडी कराएगी. कैंडिडेट को पहले प्रवेश परीक्षा क्वालिफाई करना होगा इसके बाद वह रिसर्च वर्क के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकेगा. पीएचडी वर्क कराने के सेंटर सिर्फ ऐडेड कॉलेजों व राजकीय कॉलेजों को बनाया गया है. किसी भी ऐडेड कॉलेज के सेल्फ फाइनेंस वाले कोर्स को रिसर्च वर्क में शामिल नहीं किया जाएगा. गाईड के लिए काफी अप्लीकेशन आई हैं जो ना‌र्म्स को पूरा करते होंगे उन्हें ही पीएचडी का गाइड बनाया जाएगा. सीएसजेएमयू का दायरा 11 जिलों में फैला है. जिसमें करीब 48 पीजी कॉलेज हैं और करीब 13 गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज चल रहे हैं.