फिरोजाबाद (ब्यूरो)। शुक्रवार को इटावा से टूंडला तक रेलवे सैलून से ईस्टर्न फ्रेट कॉरिडोर का निरीक्षण करते हुए दोपहर एक बजे टूंडला न्यू स्टेशन पहुंचे। इसके बाद उन्होंने के साथ पैदल ट्रैक का निरीक्षण किया और उससे संबंधित जानकारियां लीं। इसके बाद स्टेशन पर पत्रकारों से बातचीत में रेल राज्यमंत्री ने बताया कि फ्रेट कॉरिडोर ईस्टर्न और वेस्टर्न दो भागों में तैयार हो रहा हैं।

रेलवे ट्रैक का किया निरीक्षण

सड़क मार्ग से अभी तक होने वाले ट्रांसपोर्ट पर 14 से 15 फीसद तक खर्च आता है लेकिन माल कॉरिडोर तैयार होने के बाद मालगाड़ी द्वारा उसी माल पर दो से पांच फीसद भाड़ा लगाकर उसे आसानी से एक स्थान से दूसरे स्थान तक कम समय में पहुंचाया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि फ्रेट कॉरिडोर शुरू होने के बाद यात्री गाडि़यों के लिए मैन लाइन पर दबाव कम होगा, जिससे यात्री ट्रेनों को समय से चलाया जा सकेगा। इसके साथ ही 20 से 25 पैसेंजर ट्रेन बढ़ाई जाएंगी।

2022 तक पूरा होगा काॅरिडाेर

रेल राज्यमंत्री ने बताया कि 2022 तक कॉरिडोर का काम पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। इसका उद् घाटन प्रधानमंत्री करेंगे। मालगाडि़यां इस ट्रैक पर 80 किलोमीटर तक की रफ्तार से चलेंगी। ट्रेनों से महिला कोच हटाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हम प्रयास कर रहे हैं कि महिलाओं के लिए पिंक कोच लगाए जाएं। इसमें महिलाओं के लिए अतिरिक्त सुविधाएं रहेंगे। इसके लिए वार्ता चल रही है।

agra@inext.co.in

Posted By: Inextlive Desk

National News inextlive from India News Desk