- आल इंडिया फेयर प्राइस शॉप डीलर्स के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट प्रह्लाद भाई मोदी ने योगी ने कोटेदारों पर दर्ज केस वापस लेने की मांग की

>

varanasi@inext.co.in

VARANASI

यूपी सरकार कोटेदारों की समस्या को दूर नहीं कर रही है. सरकार आरोप लगाती है कि कोटेदार गरीबों का राशन खुले बाजार में बेच रहे हैं, लेकिन आपूर्ति विभाग के अफसरों के भ्रष्टाचार पर कुछ नहीं कहती. सरकार की यह दोहरी नीति है. सीएम योगी आदित्यनाथ को इस पर ध्यान देना चाहिए. ये बातें आल इंडिया फेयर प्राइस शॉप डीलर्स फेडरेशन के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट व पीएम नरेन्द्र मोदी के भाई प्रह्लाद भाई मोदी ने कहीं. वे मंगलवार को पराड़कर भवन में मीडिया पर्सस से बात कर रहे थे.

सिर्फ कोटेदार ही दाेषी क्यों?

प्रह्लाद मोदी प्रदेश सरकार की नीतियों पर जमकर बरसे. बोले, ई-पॉश मशीनों से आधार कार्ड लिंक कराने की जिम्मेदारी आपूर्ति विभाग की है. इसका पासवर्ड भी विभागीय अफसरों के पास होता है, लेकिन वितरण में कोई गड़बड़ी होने पर सिर्फ कोटेदारों पर ठीकरा फोड़ दिया जाता है. यह न्यायसंगत नहीं है.

आज करेंगे अावाज बुलंद

प्रह्लाद मोदी ने कहा कि कोटेदारों की आवाज सरकार तक पहुंचाने के लिए 31 अक्टूबर को सुबह 11 बजे से महमूरगंज स्थित चौरसिया लान में सम्मेलन होगा. उन्होंने कोटेदारों का कमीशन बढ़ाने, डोर स्टेप डिलेवरी लागू करने, कोटेदारों पर सरकारी दबाव कम करने, कोटेदारों पर दर्ज केस वापस लेने की मांग की. प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान फेडरेशन के महासचिव विशम्भर बसु, प्रदेश संरक्षक सत्यप्रकाश गुलहरे आदि थे.