नई दिल्ली (एएनआई)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को देश की सबसे बड़ी सार्वजनिक स्वास्थ्य बीमा योजना, आयुष्मान भारत योजना के "1 करोड़ लाभार्थी" होने पर बधाई दी। पीएम मोदी ने इससे जुड़े सभी व्यक्तियों और संगठनों को धन्यवाद दिया। यही नहीं प्रधानमंत्री ने मेघालय से लाभार्थी, पूजा थापा, जो एक भारतीय सेना के जवान की पत्नी भी हैं, के साथ टेलीफोन पर बातचीत की। बातचीत के दौरान, थापा ने प्रधानमंत्री मोदी को इस योजना को शुरू करने के लिए धन्यवाद दिया, जिसने उन्हें दवाओं की लागत सहित नि: शुल्क ऑपरेशन करने में मदद की।

आयुष्मान भारत लाभार्थियों की संख्या 1 करोड़ पार

प्रधानमंत्री ने थापा के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की और योजना के ऑन-ग्राउंड कार्यान्वयन पर उनकी प्रतिक्रिया भी ली। बाद में, ट्वीट्स की एक श्रृंखला के माध्यम से, मोदी ने डॉक्टरों के प्रयासों की सराहना की। साथ ही उन्होंने लिखा, 'यह हर भारतीय को गर्व करेगा कि आयुष्मान भारत लाभार्थियों की संख्या 1 करोड़ को पार कर गई है। दो साल से भी कम समय में इस पहल का इतने लोगों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। मैं सभी लाभार्थियों और उनके परिवारों को बधाई देता हूं। मैं इसके लिए उनके अच्छे स्वास्थ्य की प्रार्थना करता हूं।"

गरीबों का विश्वास जीता

अपने दूसरे ट्वीट में मोदी ने लिखा, 'मैं अपने डॉक्टरों, नर्सों, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और आयुष्मान भारत से जुड़े सभी लोगों की सराहना करता हूं। उनके प्रयासों ने इसे दुनिया का सबसे बड़ा स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम बना दिया है। इस पहल ने कई भारतीयों, विशेष रूप से गरीबों और दलितों का विश्वास जीता है।'

मोदी ने बताया इसका सबसे बड़ा लाभ

प्रधान मंत्री ने जोर देकर कहा कि योजना का सबसे बड़ा लाभ "पोर्टेबिलिटी" है, और कहा, "लाभार्थियों को न केवल जहां वे पंजीकृत हैं, बल्कि भारत के अन्य हिस्सों में भी उच्च गुणवत्ता और सस्ती चिकित्सा देखभाल प्राप्त कर सकते हैं। यह उन लोगों की मदद करता है जो दूर काम करते हैं। घर से या ऐसी जगह पर पंजीकृत हैं जहाँ वे नहीं हैं।' टेलीफोन पर बातचीत के दौरान प्रधान मंत्री ने यह भी कहा कि वह नियमित रूप से अपने आधिकारिक दौरों के दौरान देश भर के आयुष्मान भारत के लाभार्थियों के साथ बैठकें करते थे, लेकिन वर्तमान में चल रहे COVID-19 महामारी के कारण ऐसा नहीं कर पा रहे।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

National News inextlive from India News Desk

inext-banner
inext-banner