कानपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल में तीसरी बार देशवासियों ने रेडियो के जरिए मन की बात की। इस दाैरान उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती का भी जिक्र किया कि इसके लिए मेगा तैयारियां चल रही हैं। न केवल भारत में, यह पूरी दुनिया में इसका खास महत्व है। उन्होंने गरीबों, निराश्रितों, कमजोरों और भूखे लोगों की सेवा की ... उन्होंने इसे जीवन के प्रमुख कर्तव्य के रूप में लिया। उन्होंने स्वयं के जीवन में सेवा के माध्यम से तमाम उदाहरण प्रस्तुत किए।


गांधीजी ने सत्य के साथ एक अटूट बंधन साझा किया
ऑल इंडिया रेडियाे के ट्वीट के मुताबिक पीएम मोदी ने कहा कि गांधीजी ने सत्य के साथ एक अटूट बंधन साझा किया। इसके साथ ही मैं सभी निवासियों से अपील करता हूं कि इस वर्ष गांधी जयंती, एक प्रकार से हमारी इस भारत माता को प्लास्टिक कचरे से मुक्ति के रूप में मनायें। महात्मा गांधी जयंती का दिन एक विशेष श्रमदान का उत्सव बन जाए। पीएम ने मन की बात में दो मोहन को याद किया- सुदर्शन चक्रधारी मोहन और चरखाधारी मोहन।


श्रमदान के ज़रिये महात्मा गांधी को कार्यांजलि देंगे
इस दाैरान प्रधानमंत्री ने स्वच्छता के बारे में कहा कि जो हम 2 अक्टूबर से पहले लगभग 2 सप्ताह तक देशभर में स्वच्छता ही सेवा  अभियान चलाते है। इस बार ये 11 सितम्बर से शुरू होगा। इस दौरान हम अपने-अपने घरों से बाहर निकल कर श्रमदान के ज़रिये महात्मा गांधी को कार्यांजलि देंगे। इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि मैं समाज के सभी वर्गों से और निवासियों से अपील करता हूं कि इस वर्ष गांधी जयंती हमारी इस भारत माता को प्लास्टिक कचरे से मुक्ति देने के रूप में मनाएं।

 
भगवान कृष्ण के जीवन और शिक्षाओं पर दिया जाेर
पीएम ने कहा कि इन दोनों से बहुत कुछ सीखा जा सकता है। उन्होंने भगवान कृष्ण के जीवन और शिक्षाओं पर भी जोर देते हुए कहा कि हर कोई अपने जीवन से वर्तमान की समस्याओं का समाधान पा सकता है। वह महान व्यक्ति थे।सदियों पहले थे। फिर भी आज समस्याओं के समाधान के साथ-साथ प्रेरणा प्रदान करने में भी प्रासंगिक है।निस्वार्थ सेवा का महत्व हो, ज्ञान का महत्व हो या फिर जीवन में तमाम उतार-चढ़ाव के बीच मुस्कुराते हुए आगे बढ़ने का महत्व हो, ये हम, भगवान कृष्ण के सन्देश से सीख सकते हैं और इसीलिये तो श्रीकृष्ण, जगतगुरु के रूप में भी जाने गए हैं – कृष्णं वन्दे जगद्गुरुम।


पीएम ने बेयर ग्रिल्स के साथ शो का जिक्र किया

पीएम मोदी ने मन की बात के कार्यक्रम में डिस्कवरी चैनल पर बेयर ग्रिल्स के साथ शो का जिक्र किया। एक रोचक बात है की कुछ लोग संकोच के साथ मुझे एक बात जरुर पूछते हैं कि मोदी जी बताइये आप हिन्दी बोल रहे थे और बेयर ग्रिल्स हिंदी जानते नहीं हैं तो इतनी तेजी से आपके बीच बातचीत कैसी होती थी। ये क्या बाद में एडिट किया किया? उन्होंने कहा कि इसमें कोई सीक्रेट नहीं है। बेयर ग्रिल्स के साथ बातचीत में टेक्नोलॉजी का भरपूर इस्तेमाल किया गया, जब मैं कुछ भी बोलता था तो तुरंत ही अंग्रेजी में ट्रांसलेट होता था।
यूएई के बाद बहरीन पहुंचे पीएम मोदी, 200 साल पुराने कृष्ण मंदिर के पुनर्निर्माण योजना की करेंगे शुरुआत

 

 

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk