नई दिल्ली (एएनआई)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को चक्रवात अम्फान की स्थिति को लेकर गृह मंत्रालय (एमएचए) और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक करेंगे। शाम 4 बजे होने वाली यह बैठक देश के कुछ हिस्सों में उत्पन्न चक्रवात की स्थिति की समीक्षा के लिए आयोजित की जा रही है।

भयंकर चक्रवाती तूफान में बदल गया

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के डायरेक्टर जनरल मृदुंजय मोहपात्रा ने कहा कि बंगाल की खाड़ी में चक्रवात अम्फान सोमवार को दोपहर 2:30 बजे एक अत्यंत भयंकर चक्रवाती तूफान में बदल गया है। इसी के साथ यह तूफान और तेज और खतरनाक बन गया। एएनआई से बात करते हुए, महापात्रा ने कहा, "यह 20 मई को दोपहर / शाम को 155-165 किमी प्रति घंटे की गति के साथ उत्तर-उत्तर-पूर्व दिशा की ओर बढ़ेगा और दीघा (पश्चिम बंगाल) -थिया द्वीप (बांग्लादेश) को पार करेगा।" आईएमडी ने गजपति, गंजम, पुरी, जगतसिंहपुर और केंद्रपाड़ा जिलों को बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान की चेतावनी जारी की है। अगले चार दिनों के लिए बारिश का हाई अलर्ट भी घोषित किया गया। 18 मई की शाम से बारिश शुरू होने की संभावना है।

हवा की गति होगी तेज

वहीं आईएमडी भुवनेश्वर के वरिष्ठ वैज्ञानिक, उमाशंकर दास ने कहा बंगाल की खाड़ी में चक्रवात पिछले 6 घंटों से 12 किमी प्रति घंटे की गति से आगे बढ़ रहा है। उम्मीद है कि चक्रवात 20 मई को ग्लादेश का हथिया द्वीप और पश्चिम बंगाल का दीघा क्षेत्र पार करेगा। उत्तर ओडिशा तट अम्फान के अधिकतम प्रभाव का सामना करेगा, जब यह लैंडफॉल बनाता है। 110-120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवा की गति, 130 किमी प्रति घंटे तक पहुंच सकती है।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

National News inextlive from India News Desk

inext-banner
inext-banner