खूंटी (एएनआई)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यानी कि मंगलवार को चुनाव प्रचार के लिए झारखंड के खूंटी में पहुंचे। यहां उन्होंने अयोध्या और आर्टिकल 370 सहित कई मुद्दों कांग्रेस और उसके सहयोगी को घेरा। लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि विपक्ष ने 'जानबूझकर' मामलों को लंबे समय तक अपने 'राजनीतिक हितों' के लिए अटका रखा था। प्रधानमंत्री ने कहा, 'जो चीजें जानबूझकर लंबे समय से अटकाई गईं थीं और जिन्हें राजनीतिक फायदों के लिए लोगों ने छुआ तक नहीं, हमने देश में शांति और सामाजिक सद्भाव के लिए इन समस्याओं का समाधान खोजने की कोशिश की।' उन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि पर विवाद को सरकार ने शांतिपूर्ण तरीके से सुलझाया, जबकि कांग्रेस और उसके सहयोगी लंबे समय तक खींचते रहे। पीएम मोदी ने कहा, 'जब भगवान राम ने घर छोड़ा तो वह 'राजकुमार' थे और जब वह 14 साल बाद लौटे तो वे 'मर्यादा पुरुषोत्तम' बन गए। यह आदिवासी लोग थे जिन्होंने राम की मदद की।'

माओवादियों पर हुआ कड़ा प्रहार

इस बीच, आर्टिकल 370 पर बोलते हुए मोदी ने कहा, 'धारा 370 को अब जम्मू-कश्मीर से हटा दिया गया है। अब जम्मू-कश्मीर को विकास और विश्वास के पथ पर ले जाने की जिम्मेदारी उपराज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू के कंधों पर है, जो आदिवासी क्षेत्र में पैदा हुए और वहीं पले-बढे।' वहीं, रैली में माओवादियों करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, 'पिछले पांच सालों में भाजपा ने माओवादियों पर कड़ा प्रहार किया है। वह अब कुछ ही क्षेत्रों तक सीमित रह गए हैं।' उन्होंने कहा, 'पहले चरण के मतदान ने तीन चीजों का संकेत दिया है। पहला, लोकतंत्र में विश्वास मजबूत हुआ है। दूसरा, माओवादियों को सीमित क्षेत्रों में प्रतिबंधित किया गया है और राज्य में विकास का वातावरण बनाया गया है। तीसरा यह है कि लोगों ने भाजपा में विश्वास दोहराया है।

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019: पहले चरण के चुनाव की गलतियां दोहराई ना जाएअटल सरकार ने जनजातीय लोगों के लिए बनाए अलग राज्य

पीएम मोदी ने आगे कहा, 'कांग्रेस और झामुमो ने राज्य के प्राकृतिक संसाधनों के दोहन के लिए एक गठबंधन बनाया है। उनका एजेंडा फिर से राज्य के प्राकृतिक संसाधनों को लूटना है। वे लोगों में भ्रम और भय पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। इनसे बचकर रहिये। मुझे उम्मीद है कि आप कांग्रेस और झामुमो के झूठ का पर्दाफाश करेंगे और डबल इंजन भाजपा सरकार को चुनेंगे।' उन्होंने कहा, 'यही अटल बिहार वाजपेयी सरकार थी, जिसने जनजातीय लोगों के लिए अलग झारखंड और छत्तीसगढ़ राज्य बनाए। यही वाजपेयी सरकार थी जिसने अलग जनजातीय मामलों का मंत्रालय बनाया। भाजपा ने आदिवासी क्षेत्रों में बहुत काम किया है, जिसे कांग्रेस और झामुमो खुद को आगे बढ़ाने के लिए पीछे कर दिया।' वहीं, खूंटी के बाद पीएम मोदी ने जमशेदपुर में भी एक रैली, जहां इन्हीं सब बातों को दोहराया।

Posted By: Mukul Kumar

National News inextlive from India News Desk