नई दिल्ली (पीटीआई)। Coronavirus प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोराेना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे वाॅरियर के साथ अच्छा व्यवहार व उनका सहयोग करने की अपील बार-बार रहे हैं। वहीं हेल्थ मिनिस्टर डाॅक्टर हर्षवर्धन ने भी लोगों से कहा कि वे कोरोना से लोगों को बचाने में जुटे स्टाफ का सहयोग करें। उनके साथ गलत व्यवहार करने वालों के खिलाफ कानूनी एक्शन लिया जाएगा। पीएम मोदी बुधवार को वाराणसी के निवासियों के साथ एक वीडियो इंटरैक्शन कर थे तभी उन्होंने चिकित्सा कर्मियों और एयरलाइन क्रू मेंबर्स के साथ दुर्व्यवहार की रिपोर्ट्स के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हां यह सुनकर पीड़ा हुई है। गृह मंत्रालय और राज्य पुलिस महानिदेशकों से दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए कहा है। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कोराेना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे वाॅरियर संग दुर्व्यवहार बरदाश्त नहीं किया जाएगा। ऐसा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी।

डॉक्टरों, नर्सों और पुलिस आदि से दुर्व्यवहार करना महंगा पड़ेगा

पीएम मोदी ने कहा कि इस समय देश महामारी से लड़ रहा है। अगर कोई इस संकट के दौरान डॉक्टरों, नर्सों और उन सभी को अपनी सेवा प्रदान करने वालों को निशाना बनाता है, तो यह उन्हें महंगा पड़ेगा। पीएम ने कहा कि डॉक्टर, पुलिस कर्मी और कई अन्य लोग बहुत मेहनत कर रहे हैं और उन्हें प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। उन्होंने यह भी लोगों से कहा कि सरकार और प्रशासन के साथ सहयोग करें। लाॅकडाउन उन पर दबाव बनाने के लिए नहीं बल्कि इस कोरोना महामारी से बचाने के लिए है।

हमारा प्रयास कोरोना के खिलाफ इस युद्ध को 21 दिनों में जीतना

पीएम ने इस दाैरान यह भी कहा कि महाभारत का युद्ध 18 दिनों में जीता था और हमारा प्रयास कोरोना के खिलाफ इस युद्ध को 21 दिनों में जीतना है। कोरोना ने पूरी दुनिया में कोहराम मचा रखा है। इस दाैरान प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने एक हेल्प डेस्क शुरू करने के लिए व्हाट्सएप के साथ हाथ मिलाया है। इस दाैरान देश का कोई भी नागरिक नंबर (9013151515) पर संपर्क करके वायरस के बारे में उचित दिशा-निर्देश प्राप्त कर सकते हैं।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk