क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: गुमला के कामडारा थाना क्षेत्र में रविवार को पीएलएफआइ उग्रवादी और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में घायल 10 लाख के ईनामी उग्रवादी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पीएलएफआई के हार्डकोर उग्रवादी संतोष यादव उर्फ टाइगर को जख्मी अवस्था में रांची के रातू थाना क्षेत्र के चटकपुर से गिरफ्तार किया गया. उसे दो गोली लगी है. पुलिस ने उसे गिरफ्तार करने के बाद इलाज के लिए रिम्स में भर्ती कराया है. गुमला में हुए मुठभेड़ के बाद वह भागकर रांची के चटकपुर बस्ती स्थित अपने घर में आकर छिपा हुआ था और इलाज करा रहा था. गौरतलब हो कि गुमला के कामडारा थाना क्षेत्र में रविवार को पीएलएफआइ उग्रवादी और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई थी. जहां पुलिस ने तीन उग्रवादियों को मार गिराया था, वहीं कुछ उग्रवादी घायल हो गए थे और फरार हो गए थे. इसके बाद से पुलिस फरार हुए उग्रवादियों की खोजबीन में जुट गई थी.

लोकेशन ट्रेस कर पुलिस ने दबोचा

मिली जानकारी के अनुसार, रविवार को पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में घायल संतोष यादव का लोकेशन ट्रेस कर पुलिस ने उसे रातू थाना क्षेत्र के चटकपुर बस्ती से गिरफ्तार किया. फिलहाल रिम्स में उसे भर्ती कराया है जहां उसका आईसीयू में इलाज चल रहा है.

27 दिनों में नौ नक्सली ढेर

पिछले 27 दिनों के दौरान खूंटी और गुमला में 9 उग्रवादी मारे जा चुके हैं. जहां 29 जनवरी खूंटी के अड़की में मुठभेड़ में पुलिस ने पीएलएफआई के पांच उग्रवादियों को मार गिराया. वहीं दो घायल उग्रवादी सोमा पूर्ति और प्रवीण मुंडा गिरफ्तार किए गए थे. वहीं, 14 फरवरी को खूंटी के रनिया थाना क्षेत्र के मेरामबीर जंगल में पुलिस और 209 कोबरा बटालियन की पीएलएफआई नक्सलियों से मुठभेड़ हुई. इसमें सुरक्षाबलों ने पीएलएफआई के एक उग्रवादी को ढेर कर दिया था. इसके बाद 24 फरवरी को गुमला में हुए पुलिस और पीएलएफआई उग्रवादियों के बीच मुठभेड़ में पुलिस ने 3 उग्रवादी मार गिराए.