बरेली (ब्‍यूरो)। बरेली लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा प्रॉब्लम सडक़ किनारे रहने वाले या फिर रोजाना कमाकर खाने वालों को हो रही है। कई तो ऐसे हैं जिन्हें खाना भी नहीं नसीब हो रहा है। ऐसे लोगों को सहारा अब पुलिस ही रह गई है। पुलिस इन उनके घर या मोहल्ले में ही जाकर भोजन उपलब्ध करा रही है। जरूरत पडऩे पर ऐसे लोगों को राशन की भी व्यवस्था की जा रही है। पुलिस अन्य तरह की हेल्प भी लोगों को तुरंत पहुंचा रही है। जिसके चलते लोग पुलिस को लगातार धन्यवाद भी दे रहे हैं।

एसएसपी दफ्तर के बाहर बांटे फल

चौपुला चौराहा पर रहने वाले कुछ लोग वेडनसडे को परिवार के साथ एसएसपी आवास पहुंच गए। इन लोगों ने बताया कि इन्हें खाना नहीं मिला है। जिसके बाद पुलिस उन्हें फल वितरित किए। कुछ लोग डीएम आवास व एसएसपी ऑफिस भी पहुंचे। यहां पर एसपी क्राइम ने तुरंत एसएचओ कोतवाली को मदद के लिए कहा। एसएचओ कोतवाली ने सभी को उनके घर जाने के लिए कहा और फिर एक समाजसेवी की मदद से उनके घर पर ही भोजन उपलब्ध कराया गया।

फोन करने पर पहुंचायी मदद

शाही थाना के दुनका में एक शख्स ने यूपी 112 पर कॉल कर घर में राशन न होने की सूचना दी, जिसके बाद मौके पर शाही थाना प्रभारी पहुंचे और उसे राशन खरीदकर दिया। इसी तरह प्रेमनगर पुलिस ने वृद्धाश्रम और सांई शिरडी मंदिर के बाहर असहाय लोगों को भोजन दिया। कोतवाली पुलिस और इज्जतनगर पुलिस ने भी अलग अलग एरिया में जरुरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराया पुलिस ऑफिस में तैनात कुछ पुलिसकर्मियों ने मिलकर जरूरत का सामान खरीदकर असहाय लोगों में बांटा टयूजडे को कोतवाली किला इज्जतनगर व अन्य थानों की पुलिस ने भी भोजन वितरित किया।

खाकी में भगवान हो

सोशल मीडिया पर शहर की रहने वाली तमन्ना वीडियो शेय की है। जिसमें तमन्ना ने बताया कि ट्यूजडे को उन्होंने बरेली और नोएडा पुलिस के अधिकािरयों से संपर्क किया और बताया कि वह नौ माह की गर्भवती हैं। उनके पति नोएडा में काम से गए थे लॉकडाउन में फंस गए। इसके बाद बरेली पुलिस ने तमन्ना को हॉस्पिटल पहुंचाया और नोएडा पुलिस की मदद से उसके पति को भी बरेली पहुंचाया। हॉस्पिटल में तमन्ना ने बेटे को जन्म दिया। तमन्ना ने बरेली और नोएडा पुलिस के अधिकारियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि खाकी में भगवान हैं आप लोग शायद आप लोगों की वजह से ही आज में जिंदा हूं।

यूपी 112 के जरिए मदद

डीएम और एसएसपी ने यूपी 112 के जरिए जरूरतमंदों को राशन व जरूरत का सामान पहुंचाने की तैयारी कर ली है। इसके तहत सिविल डिफेंस पुलिस के वॉंलेटियर्सए समाजसेवियों की भी मदद ली जा रही है। समाजसेवियों की मदद से यूपी 112 की गाडिय़ों में जरूरत का सामान रखवाया जाएगा और कॉल आने पर मदद पहुंचाई जाएगी। सिविल डिफेंस के लोग भी अपने एरिया में घर.घर जाकर लोगों की मदद कर सकते हैं। इसी तरह से वॉलेंटियर्स भी लोगों को जरूरत का सामान घर पर पहुंचा सकते हैं।

कर सकते हैं होम डिलीवरी

डीएम नितीश कुमार ने बताया कि जरूरत के सामान की दुकानें खुली रहेंगीए लेकिन भीड़ को कम करने के लिए दुकानदारों से कहा गया है कि वह घर घर जाकर सामान उपलब्ध करा सकते हैं। इसके लिए उन्हें किसी तरह की कोई परमीशन नहीं लेनी होगी। इसके अलावा कई आउटलेट्स ने भी होम डिलीवरी करने के लिए अधिकारियों से संपर्क किया है। वहीं डीएम ने बताया कि बरेली के 99 हजार राशन कार्ड धारकों को 1 अप्रैल के बाद राशन वितरित किया जाएगाए इसकी तैयारी कर ली गई है।

Posted By: Inextlive