वाराणसी (ब्‍यूरो)। Lockdown in Varanasi: लॉकडाउन का फायदा उठाकर जमाखोरी करने और मुनाफा कमाने की कोशिश करने वालों के खिलाफ पुलिस प्रशासन ने कार्रवाई शुरू कर दी है। पांडेयपुर में बुधवार को अधिकारियों ने छापेमारी की और बड़े पैमाने पर खाद्य सामग्री पकड़ी। आढ़त और गोदाम को सील कर दिया गया है। कार्रवाई से अन्य जमाखोरों में हड़कंप मच गया है। अधिकारियों ने एक बार फिर व्यापारियों और आढ़तियों से मुनाफाखोरी नहीं करने की अपील की।

44 सौ रुपये कुंतल दे रहा था आटा

पांडेयपुर नईबस्ती में पलटू साव के बेटे जय प्रकाश गुप्ता के घर में ही थोक गल्ले चावल, गेहूं, दाल व आटे की आढ़त है। बुधवार को फुटकर दुकानदार खरीदारी करने पहुंचे तो आढ़ती ने मुनाफा कमाना शुरू कर दिया। आटा 44 सौ रुपये कुंतल कर दिया। इसका फुटकर दुकानदारों ने विरोध किया। कहा कि 44 रुपये किलो ले जाएंगे तो आम लोगों को किस रेट पर बेचेंगे। आढ़ती ने माल की कमी का हवाला देते हुए दाम बढ़ने की बात कही और अपने रेट पर अड़ा रहा। इसकी शिकायत किसी ने एसडीएम सप्लाई से कर दी। एसडीएम सप्लाई ने कैंट पुलिस के साथ तत्काल छापेमारी की और आढ़ती के गोदाम और आढ़त को सील कर दिया। छापा पड़ते ही जय प्रकाश गुप्ता भाग निकला। मौके से उसके भाई श्रीप्रकाश गुप्ता को पुलिस ने हिरासत में लिया है। एडीएम सप्लाई और जिला आपूर्ति अधिकारी ने निर्देश दिया कि सप्ताह में अनाज की थोक दुकानों और आढ़त से सप्ताह में तीन दिन ही बिक्त्री होगी। अन्य चार दिन केवल लोडिंग अनलोडिंग किया जा सकता है। मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को ही सुबह नौ से दोपहर दो बजे तक गल्ला और किराना की थोक दुकानें खुलेंगी। खाद्य वस्तुओं की रेट सूची भी जारी की जाएगी। इस सूची को सार्वजनिक स्थानों पर चस्पा किया जाएगा।

Posted By: Inextlive