- जीप पर पथराव का प्रयास कर लगाया जाम

- पुलिस के सामने से आरोपी को ले गए किसान

- थाने की जीप के आगे खड़ी कर दी थी ट्रैक्टर-ट्रॉली

मवाना : गन्ना समिति में क्रमिक अनशन व धरनास्थल से बाहर निकल रहे चीनी मिल के केनयार्ड में तोड़फोड़ के मामले में नामजद मुख्य आरोपी आदेश प्रधान की गिरफ्तारी के लिए समिति के बाहर जाल बिछाए खड़ी थाना पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने का प्रयास किया तो किसान भड़क गए. इस दौरान पुलिस की जीप पर पत्थर फेंका और थाना थाना प्रभारी से तीखी नोकझोंक हुई. जीप के सामने ट्रैक्टर-ट्रॉली लगाकर मार्ग जाम कर दिया. उसके बाद किसानों ने प्रधान को पुलिस से छुड़ा लिया.

यह है मामला

कुछ दिन पहले मिल के गेट पर धरना व तालाबंदी के दौरान किसानों ने तोड़फोड़ कर दी थी. जिसके बाद युवा किसान मंच के कार्यकर्ता आदेश प्रधान समेत चार नामजद व डेढ़ सौ के विरुद्ध अज्ञात में रिपोर्ट दर्ज की गई थी. जिनकी तलाश में पुलिस दबिश दे रही है. सोमवार को गन्ना समिति में सरधना विधायक संगीत सोम के भाषण के बाद आदेश प्रधान ने भी किसानों को संबोधित किया. थाना प्रभारी परशुराम मय फोर्स समिति के बाहर तैनात थे.

पुलिस से टकराव

धरने के बाद जब आदेश प्रधान बाहर निकल रहे थे तो पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करने का प्रयास किया, लेकिन पूर्व विधायक गोपाल काली व किसान थाना पुलिस से उलझ गए. इस दौरान थाना प्रभारी से नोकझोंक हुई व थाने की जीप पर किसी ने पत्थर फेंक दिया, जो जीप के आगे शीशे में लगने से बाल-बाल बचा. उत्तेजित किसानों ने पुलिस की जीप के आगे ट्रैक्टर-ट्रॉली लगाकर जाम लगा दिया. आदेश प्रधान को घेरे में लेकर पुलिस से बचा ले जाने में कामयाबी हासिल की. पुलिस हाथ मलती रह गई.

मारपीट से अफरातफरी

जब सरधना विधायक संगीत सोम गन्ना समिति में धरनास्थल पर पहुंची तो मंच के पास बैठने को लेकर युवकों के दो गुटों में कहासुनी के बाद मारपीट हो गई. मौजूद पुलिसकर्मी तमाशबीन बने रहे. माहौल बिगड़ता देख कई बुजुर्ग किसानों ने बीच-बचाव का प्रयास किया, लेकिन उनके साथ भी धक्कामुक्की हुई. इसे देख संगीत सोम खडे़ हुए और माइक संभाल कर भाषण शुरू कर दिया. इसके बाद ही युवक शांत हुए.