पुलिस से तकरार, बजरंगियों ने सड़क पर पढ़ा हनुमान चालीसा

- खंदौली में नमाज के चलते पुलिस ने रोकी बस, बजरंगियों से की अभद्रता

- गुस्साए कार्यकर्ता नारेबाजी कर चौराहे पर ही बैठे, सीओ ने समझाकर शांत कराया

आगरा. खंदौली के ईदगाह में नमाज के दौरान पुलिस ने हाईवे का ट्रैफिक रोक दिया. वहां पहुंची अलीगढ़ के बजरंगियों की बस को भी रोक दिया गया. दारोगा ने चालक और बजरंगियों से अभद्रता कर दी. आक्रोशित बजरंगियों ने इस पर जमकर हंगामा और नारेबाजी की. सड़क पर बैठ हनुमान चालीसा पढ़ने लगे. सीओ ने समझाकर उन्हें शांत कराया.

अलीगढ़ के बजरंगदल के 80 पदाधिकारी और कार्यकर्ता अयोध्या में रामलला के दर्शन करने गए थे. सोमवार को बस से आगरा-अलीगढ़ हाईवे से लौट रहे थे. खंदौली में ईदगाह में नमाज के चलते पुलिस ने हाईवे पर ट्रैफिक रोक रखा था. नमाज होने के बाद हल्के वाहनों को निकाला जा रहा था. तभी बजरंगियों की बस वहां पहुंची. पड़ाव चौराहे पर तैनात दारोगा ने बस चालक से अभद्रता कर दी. चार पदाधिकारी बात करने गए तो उनसे भी अभद्र व्यवहार किया. अन्य कार्यकर्ताओं के भी बस से आने पर उनकी पुलिस से तकरार हो गई. गुस्साए कार्यकर्ता और पदाधिकारी हाईवे पर बैठकर हनुमान चालीसा पढ़ने लगे. उनका कहना था कि अगर नमाज के लिए रोड रोका जा सकता है तो वे भी रोड पर बैठकर हनुमान चालीसा पढ़ेंगे. करीब 20 मिनट तक हंगामे के बाद सीओ एत्मादपुर अतुल सोनकर के समझाने पर कार्यकर्ता शांत हुए. पुलिस ने उन्हें हाथरस जनपद की सीमा तक छोड़ दिया. बस में सवार अलीगढ़ बजरंग दल के गौरक्षा प्रमुख केदार सिंह का कहना था कि पुलिस की अभद्रता पर विरोध दर्ज कराया था. अधिकारियों के गलती मानने पर वहां से निकल आए. सीओ एत्मादपुर अतुल सोनकर का कहना है कि नमाजियों के रोड पर निकलने के दौरान ट्रैफिक रोका गया था. तभी बस में सवार लोग निकलने की जिद कर रहे थे. उन्हें समझाकर शांत कर दिया गया था.