-बांड भराकर थाने से किए गए रिहा

PATNA

: मुख्यमंत्री आवास के बाहर धरना देने पहुंचे बड़हरा (भोजपुर) के विधायक सरोज यादव को पुलिस ने शुक्रवार को हिरासत में ले लिया। उन्हें शाम पांच बजे तक गर्दनीबाग थाने में बैठाकर रखा गया। इसके बाद बांड भराकर थाने से रिहा कर दिया। प्रतिबंधित क्षेत्र में धरना देने पर राजद विधायक के खिलाफ सचिवालय थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। सचिवालय थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर विधि-सम्मत कार्रवाई की जा रही है।

दो पेज का सौंपा ज्ञापन

विधायक ने दो पेज का ज्ञापन भी सौंपा है। इसमें उन्होंने चार घटनाओं का जिक्र किया है। उन्होंने कहा कि पांच सितंबर को चचेरे भाई दुर्गेश यादव से बदमाशों ने मारपीट की थी। उनके निजी सहायक सुखदेव यादव पर अगले दिन जानलेवा हमला किया गया। 10 सितंबर की रात भोजपुर जिले के बड़हरा थानांतर्गत केशोपुर गांव में उनके बड़े भाई के साले निर्मल कुमार पर फाय¨रग की गई थी। दूसरे ही दिन उनके मोबाइल पर मैसेज भेज कर 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई और रकम नहीं मिलने पर जान से मारने की धमकी दी गई थी। चारों घटनाओं के बाद भोजपुर के विभिन्न थानों में प्राथमिकी दर्ज है, लेकिन जिला पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

पुलिस ने जबरन हटाया

पुलिस के रवैये के खिलाफ और सुरक्षा प्रदान करने की मांग को लेकर शुक्रवार की दोपहर 12 बजे भोजपुर विधायक सरोज यादव मुख्यमंत्री आवास के बाहर आमरण अनशन करने बैठ गए। पुलिसकर्मियों ने उन्हें वहां से हटने को कहा, लेकिन वह नहीं माने। इसको लेकर उनके बीच तीखी नोक-झोंक हुई। इसके बाद पुलिस ने उन्हें जबरन वहां से हटा दिया और हिरासत में लेकर थाने चली गई। विधायक ने रिहा होने के बाद पटना पुलिस की हरकत को निंदनीय बताया।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner