लखनऊ (ब्‍यूरो)। पीएम मोदी-सीएम योगी की अपील, प्रशासन व पुलिस की मनुहार के बावजूद जो लोग कोरोना संक्रमण के खतरे का नजरंदाज करते हुए सड़क पर निकलने से बाज नहीं आ रहे थे, वे पुलिस के एक्शन मोड में आते ही घरों में दुबक गए। लॉकडाउन के नियमों का पालन कराने के लिये बुधवार को पुलिस ने सख्त रवैया अपनाया। जिसका नतीजा भी देखने को मिलाए न सिर्फ सड़कों पर सन्नाटा पसरा रहा, बल्कि शहर के भीतरी इलाकों में भी खासी शांति रही। सुबह कुछ इलाकों में लोग दूध-सब्जी खरीदने निकले, लेकिन सिविल डिफेंस व पुलिस ने उन्हें भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की ताकीद की। उधर, लोगों को आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिये कमिश्नर मुकेश मेश्राम ने कलेक्ट्रेट में व्यापारियों के साथ बैठक की। वहीं, डीएम ने हॉस्पिटल के आसपास मौजूद दवा की दुकानों को 24 घंटे खोलने की अनुमित दी है।

हर तरफ सन्नाटा

मंगलवार को शहर में स्वच्छंद माहौल के उलट बुधवार को राजधानी की सड़कों का नजारा बिलकुल जुदा था। जिस ओर भी नजर जा रही थी, सड़कों पर सिर्फ और सिर्फ सन्नाटा पसरा था। वजह भी साफ थी, मंगलवार के हालात से सबक लेते हुए पुलिस सुबह से ही सख्त रवैया अख्तियार किये हुए थी। जिस भी सड़क पर कोई भी बिना किसी वजह टहलता या वाहनों से फर्राटा भरता मिला, पुलिस ने उसे जमकर मजा चखाया। पैदल जा रहे लोगों को पुलिस ने जमकर फटकार लगाने के साथ-साथ एफआईआर दर्ज करायी तो वाहनों का चालान किया गया। पुलिस का यह सख्त रूप देख तफरीह के लिये निकले लोगों के हौसले धराशायी हो गए। नतीजा यह रहा कि देखते ही देखते शहर में हर तरफ सन्नाटा पसर गया।

भीतरी इलाकों में भी नहीं जुटी भीड़

पुलिस की सख्ती का ही आलम रहा कि पुराने शहर के मोहल्लों में भी भीड़ नहीं जुटी। दूध व सब्जी लेने के लिये सुबह घरों से निकले लोग सामान लेकर चुपचाप अपने घरों में लौट गएण् पुराने शहर के हुसैनगंज, लालकुआं, नरही, रकाबगंज, उदयगंज, पानदरीबा, मवैया, ऐशबाग, यहियागंज, नक्खास, अकबरीगेट, हैदरगंज, मशकगंज, चौक, ठाकुरगंज, सआदतगंज आदि इलाकों में मंगलवार के उलट हालात सामान्य रहे। हालांकि, खरीदारी के दौरान भी पुलिस व सिविल डिफेंस के स्वयंसेवकों ने सब्जी, दवा व दूध की दुकानों के बाहर लोगों को संक्रमण से बचाने के लिये सोशल डिस्टेंस मेनटेन करने के लिये नये अभियान की शुरुआत कर दी। इसके तहत इन दुकानों के बाहर डेढ़-डेढ़ मीटर की दूरी पर चूने से गोले बनाए गए। खरीदारी करने आने वाले लोगों को इन गोलों के भीतर ही खड़े होने की ताकीद की गई। पुलिस व सिविल डिफेंस की इस पहल की खरीदारी करने पहुंचे लोगों ने जमकर सराहना की।

कमिश्नर ने व्यापारियों के साथ की बैठक

लॉकडाउन के दौरान आम लोगों को जरूरी सामान की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिये व्यापारी संगठनों के साथ कमिश्नर मुकेश मेश्राम ने बैठक की। व्यापारियों नेताओं ने कमिश्नर से गुजारिश की कि वे होलसेल व्यापारियों व उनके कर्मचारियों को पास मुहैया कराया जाये। व्यापारी नेता अमरनाथ मिश्र ने बताया कि उनकी गुजारिश पर कमिश्नर ने पास मुहैया कराने को तो निर्देश दिये परए जरूरत के मुताबिक अब भी पास बेहद कम हैं। हालांकि, उन्होंने कहा कि जितने पास मिले हैं, उनके आधार पर दुकानों को खोलकर खुदरा दुकानदारों तक माल पहुंचाने की कोशिश की जायेगी।

हॉस्पिटल के पास की दवा दुकानें 24 घंटे खुल सकेंगी

इलाज के दौरान मरीजों को दवा की कमी न हो इसके लिये हॉस्पिटल्स के पास स्थित दवा की दुकानों को 24 घंटे खोलने की तैयारी है। डीएम अभिषेक प्रकाश ने आदेश जारी कर ऐसी सभी दवा की दुकानों को 24 घंटे खोलने की परमीशन दी है।

मॉल के ग्रोसरी स्टोर कर सकेंगे होम डिलीवरी

राजधानी में राशन व अन्य घरेलू सामान की किल्लत न हो, इसके लिये अब शॉपिंग मॉल्स में स्थित ग्रोसरी स्टोर को खोलने के निर्देश डीएम अभिषेक प्रकाश ने दिये हैं। जारी आदेश में कहा गया है कि यह ग्रोसरी स्टोर्स सिर्फ होम डिलीवरी के ऑर्डर पर ही सप्लाई कर सकेंगे। इन स्टोर्स में कोई भी खुद जाकर शॉपिंग नहीं कर सकेगा।

Posted By: Inextlive