45 के करीब राजनीतिक मुकदमे दर्ज है व्यापारियों के खिलाफ

शहरभर के व्यापारियों ने योगी सरकार के फैसले को सराहा

Meerut. योगी सरकार ने व्यापारियों को खुश करने की कवायद शुरू कर दी है. इसके तहत व्यापारियों पर राजनीतिक दृष्टि से दर्ज मुकदमे वापस लिए जाएंगे. इस बाबत व्यापारी प्रकोष्ठ के प्रभारी एसपी क्राइम डॉ. बीपी अशोक ने बताया कि मेरठ के व्यापारियों पर तकरीबन 45 राजनीतिक मुकदमे दर्ज हैं. जल्द ही मुकदमों की सूची शासन को भेजी जाएगी.

डेढ़ साल से मांग

व्यापार संघ के अध्यक्ष नवीन गुप्ता समेत कई व्यापारिक व उद्योग मंडल नेताओं ने सीएम योगी आदित्यनाथ से फर्जी मुकदमों को वापस लेने की मांग की थी. इस बाबत सीएम योगी ने व्यापारियों की मांग के मद्देनजर मेरठ पुलिस से व्यापारियों के खिलाफ दर्ज हुए राजनीतिक मुकदमों की रिपोर्ट मांगी है. इस बाबत एसपी क्राइम डॉ. बीपी अशोक ने बताया कि व्यापारियों पर तकरीबन 45 राजनीतिक मुकदमे दर्ज हैं. इनकी रिपोर्ट तैयार की जा रही है. जल्द ही सूची शासन को भेजी जाएगी.

अगर कोई व्यापारी समाज के लिए काम करता है तो उसके खिलाफ राजनीतिक पार्टी मुकदमा दर्ज करा देती है. ऐसे मुकदमों को वापस लेना सरकार की एक अच्छी पहल है.

नवीन गुप्ता, अध्यक्ष संयुक्त व्यापार संघ

सरकार का एक अच्छा कदम है, लेकिन यह नियम सभी व्यापारी वर्ग के लिए लागू किया जाए. ना कि एक खास पार्टी के लिए.

लोकेश अग्रवाल, वरिष्ठ महामंत्री उप्र उद्योग व्यापार मंडल

व्यापारी जब अपने हक की मांग करता है. तो राजनीतिक पार्टी उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करा देती है. जिससे व्यापारी दबाव में आ जाए. सरकार का यह कदम काफी अच्छा है.

गौरव शर्मा, अध्यक्ष मेरठ ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन