-सभी को नोटिस जारी करते हुए 24 घंटे की मोहलत

-मतगणना ट्रेनिंग में सैटरडे को 19 कर्मचारी रहे गायब

dehradun@inext.co.in

DEHRADUN : लोकसभा चुनाव के बाद अब सब की नजरें मतगणना पर हैं. शांतिपूर्ण व निष्पक्ष मतगणना के लिए सैटरडे को चुनाव आयोग की तरफ से ओएनजीसी ऑडिटोरियम में कार्मिकों को ट्रेनिंग दी गई, लेकिन मतदान ट्रेनिंग की तर्ज पर यहां भी क्9 कर्मचारी नदारद मिले.

जो फिट नहीं वो हुए बाहर

एडीएम व प्रभारी अधिकारी कार्मिक प्रताप शाह के अनुसार मतगणना कार्य के लिए ख्क्0 माइक्रोऑब्जर्वर लगाए गए थे, जिनमें से क्भ् माइक्रोऑब्जर्वर को फिटनेस के आधार पर कार्य से मुक्त कर दिया गया है. इनमें से क्9भ् तैनात किए गए हैं. लेकिन इस ट्रेनिंग के दौरान क्89 माइक्रोऑब्जर्वर उपस्थित हुए और तीन अनुपस्थित. ऐसे ही क्90 सुपरवाइजर में से तीन, क्90 गणना असिस्टेंट में क्0 अनुपस्थित पाए गए. जिनको कारण बताओ नोटिस जारी किए गए हैं. जिला निर्वाचन अधिकारी के जरिए जारी नोटिस में ख्ब् घंटे में नोटिस का जवाब देने के लिए कहा गया है. इस दौरान मास्टर ट्रेनर्स ने ईवीएम मशीन को खोलना, गणना करना और शील चेक करने जैसी जानकारियां दी. मास्टर ट्रेनर में मो. मुस्तफा खान, उमा दत्त जोशी, मनमोहन सिंह रावत आदि प्रमुख रहे.

-----------------------

सही समय पर मतगणना स्थल पर पहुंचे

मतगणना ट्रेनिंग के लिए सभी कार्मिकों को सुबह छह बजे मतगणना स्थल पर पहुंचने के निर्देश दिए गए हैं. इसके बाद सुबह 7.फ्0 बजे तक मतगणना टेबल पर सभी कार्मिक मौजूद रहेंगे. पहले पोस्टल बैलट पेपर्स की गणना होगी.

-----------------------

मतगणना की 890 कार्मिकों को जिम्मेदारी

सात मई को हुए लोकसभा चुनाव के लिए रायपुर महाराणा स्पो‌र्ट्स कॉलेज को स्ट्रॉन्ग रूम बनाया गया गया है. जहां सुरक्षा के पुख्ते इंतेजामात के बीच तमाम आयोग के जिम्मेदार अधिकारी पैनी नजर रखे हुए हैं. इधर, क्म् मई को मतगणना होगी. इसके लिए 890 कार्मिकों को जिम्मेदारी सौंपी गई है. जिसमें हर विधानसभावार क्ब्-क्ब् टेबिल लगाई जाएंगी. हर टेबिल पर एक माइक्रोऑब्जर्वर, एक गणना सुपरवाइजर, एक गणना सहायक तैनात किया जाएगा.