75 हजार का खर्च एक जांच केंद्र पर

20 हजार रुपए तक प्रतिमाह कमाई

13 कंपनियों की मशीनें बाजार में

148 ऑनलाइन केंद्र करीब खुलने हैं

- ऑनलाइन प्रदूषण जांच केंद्र के लिए परिवहन विभाग से लेनी होगी परमीशन

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: अगर आप रोजगार की तलाश कर रहे हैं तो आपके लिए एक अच्छी खबर है. आप राजधानी में ऑनलाइन पॉल्यूशन जांच केंद्र खोलकर अपनी आजीविका चला सकते हैं. गौरतलब है कि परिवहन विभाग ने राजधानी में ऑनलाइन वाहनों के प्रदूषण की जांच शुरू कर दी है. इस व्यवस्था को शहर में और भी पुख्ता करने के लिए यह योजना लाई जा रही है. जो लोग ऑनलाइन प्रदूषण जांच केंद्र खोलना चाहते हैं, वे इसके लिए परिवहन विभाग में संपर्क कर सकते हैं.

148 ऑफलाइन केंद्र

परिवहन विभाग के अधिकारियों के अनुसार अगले तीन माह में प्रदेश के सभी जांच केंद्र ऑनलाइन किए जाने हैं. अभी राजधानी में सिर्फ 148 ऑफलाइन जांच केंद्र ही हैं. जिनमें से कई तो सिर्फ कागजों पर चल रहे हैं. ऐसे में शहर में कई नए जांच केंद्र खोलने की तैयारी है. ये सभी केंद्र ऑनलाइन होंगे. जिन्हें आप भी परमीशन लेकर खोल सकते हैं.

विभाग देगा मंजूरी

ऑनलाइन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए अभी विभाग की ओर से कोई फीस नहीं ली जाती है. बस जांच मशीनों को इंस्टाल कर इस काम को शुरू कर दिया जाता है. एक जांच केंद्र बनाने में केवल 75 से 80 हजार रुपए का खर्च आता है. 13 वाहनों के प्रदूषण की जांच करने वाली 13 कंपनियों की मशीनें बाजार में उपलब्ध हैं. विभागीय अधिकारी इन मशीनों को देखने और जांचने के बाद केंद्र खोलने की अनुमति देगा. यहां आप जांच के लिए निर्धारित रेट 30, 40 और 50 रुपए लेकर वाहनों की जांच कर सकेंगे. यह फीस ही जांच केंद्र खोलने वाले की कमाई होगी. इस तरह मशीन लगाने वाला व्यक्ति औसतन एक माह में 20 से 25 हजार रुपए तक कमा सकेगा.

कोट

प्रदूषण जांच केंद्र के लिए कोई भी आवेदन कर सकता है. उपयुक्त मशीनों की जांच के बाद उन्हें विभाग से इसकी मंजूरी मिल जाएगी. हालांकि जल्द ही प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए पांच हजार रुपए फीस लिए जाना प्रस्तावित है.

पी गुरु प्रसाद, परिवहन आयुक्त