पटना (ब्यूरो)। बिहार में तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा देने में जुटी सरकार के स्तर से इंजीनियरिंग कॉलेजों और पॉलीटेक्निक संस्थानों में 1500 सहायक प्राध्यापक तथा व्याख्याता की नियुक्ति की कवायद तेज हो गयी है। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक 2014 की नियमावली के तहत राज्य के 38 इंजीनियरिंग कॉलेजों और 44 पॉलीटेक्निक संस्थानों में सहायक प्राध्यापक एवं व्याख्याता की नियुक्ति की तैयारी की जा रही है। ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआइसीटीई) के तय प्रावधानों के तहत आर्हता प्राप्त अभ्यर्थियों से जल्द ही ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित करने का निर्णय लिया जाएगा।

एम टेक और बीटेक जरूरी

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने डेढ़ हजार पदों के विरुद्ध बड़ी संख्या में अभ्यर्थियों के आवेदन आने की संभावना को देखते हुए बेल्ट्रान के माध्यम से लिखित परीक्षा कराने का निर्णय लिया है। इसके परीक्षाफल के आधार पर चयनित अभ्यर्थियों की नियुक्ति की जाएगी। सहायक प्राध्यापक के अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम योग्यता एम।टेक और व्याख्याता के लिए अभ्यर्थियों की न्यूनतम योग्यता बीटेक होगी।

2014 की नियमावली के तहत नियुक्ति

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग का कहना है कि पूर्व में विभागीय स्तर पर 1500 सहायक प्राध्यापक एवं व्याख्याता की नियुक्ति की जा रही थी, लेकिन पटना हाईकोर्ट द्वारा एक याचिका पर सुनवाई के बाद इस नियुक्ति को यह कहते निरस्त कर दिया गया कि गेट परीक्षा (ग्रेजुएट एप्टीच्यूड टेस्ट इन इंजीनियरिंग) के स्कोर के आधार पर विभाग को नियुक्ति संबंधी कार्रवाई करनी चाहिए। साथ ही 2017 में विभाग द्वारा राजकीय पॉलीटेक्निक एवं इंजीनियरिंग कॉलेजों में सहायक प्राध्यापक एवं व्याख्याता की नियमावली को भी निरस्त कर दिया गया और विभाग को 2014 की नियमावली के तहत नियुक्ति संबंधी कार्रवाई का आदेश दिया।

एमटेक की पढ़ाई भी जल्द होगी शुरू

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के मुताबिक एमटेक की पढ़ाई अभी एमआइटी, मुजफ्फरपुर में हो रही है। इसलिए विभाग ने इंजीनियरिंग कॉलेजों में एमटेक की पढ़ाई शुरू कराने का प्रस्ताव एआइसीटीई को भेजा था। एआइसीटीई से पहले चरण में छह इंजीनियरिंग कॉलेजों में एमटेक की पढ़ाई की सहमति प्रदान की है। आने वाले समय में अन्य इंजीनियरिंग कॉलेजों में एमटेक की पढ़ाई संचालित करने का निर्णय लिया गया है। इसके अलावा इंजीनियरिंग के छात्रों के लिए शोध की सुविधा भी शुरू होने जा रही है।

patna@inext.co.in

Posted By: Vandana Sharma

Business News inextlive from Business News Desk

inext-banner
inext-banner