पुलिस का खौफ कम हो गया है
कुछ मामलों में पुलिस को कोई सुराग भी नहीं मिल पाया है. वह हवा में तीर चला रही है. शहर में इस तरह बढ़ी हत्याओं के पीछे अपराधियों के दिल में पुलिस का खौफ कम होना है. तभी तो जिसे जब चाहा गोलियों से भून डाला. मई महीने में साकेत और प्रेम हत्याकांड ने लॉ एण्ड ऑर्डर की पोल खोली थी तो जून में बैंक में घुसकर कैशियर की हत्या ने पुलिस के पसीने छुड़ा दिये.

एक दिन में दो को टपकाया
शहर में एक ही दिन दो-दो हत्या हुई. जक्कनपुर में राहुल कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी गयी. वह जमीन का कारोबारी था. रात को लौटते वक्त उसे घात लगाये अपराधियों ने गोली मार दी थी. राहुल भी हत्या के एक मामले में जेल की हवा खा चुका था. इसके अलावा इसी दिन मालसलामी थाने में पीरदमडिय़ा में अपराधियों ने बालेश्वर पासवान की गोली मारकर हत्या कर दी. बालेश्वर अपने साले कुंदन के साथ जा रहा था. कुंदन भी इस गोलीबारी में जख्मी हो गया था.

लॉ एंड ऑर्डर की खुली पोल
पटना पुलिस के लिए एसबीआई के कैशियर जेम्स माइकल सेक्टस की हत्या शॉकिंग थी. शहर के पॉश इलाके में बैंक के अंदर घुसकर जेम्स को गोली मारने की घटना ने सबको हिलाकर रख दिया. अपराधियों ने कोई लूटपाट नहीं की. हाल यह है कि इस घटना के बाद लोगों ने कहना शुरू कर दिया कि अब यहां सुरक्षित नहीं रह सकते हैं. कैशियर की हत्या के एक दिन पहले ही सर्वेश कुमार की लाश सिपारा पुल के नीचे मिली थी. उसके परिजनों ने हत्या कर लाश फेंकने का आरोप लगाया था. वह शाहपुर पोठिया से लापता था.

बेखौफ हमलावर
शहर में अपराधियों का मनोबल इतना बढ़ गया है कि कहीं भी गोली चलाने से परहेज नहीं करते. 10 जून को ही अगमकुआं थाना क्षेत्र में कंचन को गोली मारकर घायल कर दिया. उसकी गलती सिर्फ इतनी थी कि अपराधियों को दूसरी जगह जाकर पीने की हिमाकत कर दी. बेखौफ अपराधियों ने उसपर गोली चला दी. इसके अलावा अगमकुआं थाना क्षेत्र में ही 11 जून को छेड़खानी के विरोध में गोलीबारी की गयी. इसमें धर्मेन्द्र को गोली लगी और एक अन्य व्यक्ति राजन को भी अपराधियों ने पिस्टल की बट से मारकर जख्मी कर दिया. घटना फ्लाईओवर के नीचे मंदिर के पास की है.

डबल मर्डर ने उड़ाये होश
मई में एक और जून में हुए डबल मर्डर केस ने पटना में सनसनी फैल दी. एक तो आर्नर किलिंग का मामला निकाला. हत्या 17 मई को ही हो गयी थी मगर केस जून में गर्दनीबाग थाना में दर्ज हुआ. इसके बाद पटना पुलिस ने कांड का खुलासा किया. प्रेमी युगल सोनी और रामजी ने कोर्ट मैरिज की थी. सोनी के भाइयों ने दोनों को मारकर कोइलवर नदी किनारे दफना दिया था. इसके अलावा जमीन विवाद में मोकामा थाना के कन्हाई गांव में दो महिलाओं की गला रेतकर हत्या कर दी गयी. अलविया और तहजीबा की हत्या के पीछे 12 बीघा जमीन का मामला सामने आया. इस कांड में भी पुलिस ने तीन लोगों को अरेस्ट किया था. इसके अलावा 17 मई को फतुहा थाना क्षेत्र में तीन बहनों को अपराधियों ने गोली मार दी. गुडिय़ा, सोनी और पूनम को गोली लगी. इसमें पूनम को छोड़कर गुडिय़ा और सोनी दोनों की मौत हो गयी.

जून की प्रमुख घटनाएं
15 जून -जक्कनपुर - राहुल की हत्या
15 जून- मालसलामी- बालेश्वर पासवान को गोली मारी
14 जून -पाटलिपुत्रा - कैशियर जेम्स की हत्या
13 जून- सर्वेश कुमार की लाश सिपारा पुल के नीचे मिली