-किन्नर अखाड़ा प्रमुख ने किया विमोचन

PRAYAGRAJ: कुंभ में पहली बार आए किन्नर अखाड़ा पर डाक विभाग की ओर से विशेष आवरण तैयार कराया गया है. इसका विमोचन किन्नर अखाड़ा प्रमुख आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी द्वारा किया गया. इस मौके पर विशेष अतिथि के रूप में पोस्ट मास्टर जनरल शुबेन्दु स्वाई, प्रवर अधीक्षक डाकघर संजय डी अखाड़े मौजूद रहे. अरैल डाकघर सेक्टर 18 में आयोजित हुए कार्यक्रम के दौरान विशेष आवरण का विमोचन किया गया. इस मौके पर आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने डाक विभाग को इस कार्य के लिए आभार व्यक्त किया. कार्यक्रम में संगम फिलेटलिक क्लब के सचिव मो. गुलरेज एवं अध्यक्ष अशोक मित्तल, सचिव राहुल गांगुली समेत अन्य लोग मौजूद रहे.

बदल रहा है समय और परिस्थितियां

विशेष आवरण का विमोचन करने के दौरान किन्नर आखाड़ा प्रमुख आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने कहा कि हम भी इसी समाज के अंग है. आज के समय में परिस्थितियां बदल रही है. समाज को किन्नरों को अपनाना पड़ेगा. उन्होंने मेला प्रशासन और डीएम मेला विजय किरण आनंद के सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया. उन्होंने कहा कि इस बार किन्नर अखाड़ा ने कुंभ में इतिहास रच दिया है. जहां जगदगुरु स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती महाराज ने अखाड़ा को संरक्षण दिया. वहीं जूना अखाड़ा किन्नर अखाड़ा को अपने साथ लेकर चल रहा है.

--------------

प्रयाग की धरती से आरम्भ हुआ किन्नर अखाड़ा का विस्तार

PRAYAGRAJ: कुंभ नगरी प्रयागराज से किन्नर अखाड़ा के विस्तार का क्रम शुरू हो गया. अखाड़ा की ओर से अलग-अलग प्रदेश के दो महंतों को बुधवार को महामंडलेश्वर बनाया गया. इस अवसर पर अखाड़े के शिविर में कार्यक्रम का आयोजन हुआ. जहां विधि-विधान के साथ किन्नर अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मीनारायण त्रिपाठी ने दिल्ली की महंत पूजा और सोनिया को महामंडलेश्वर बनाया. इस अवसर पर उन्होंने बताया कि वर्तमान में किन्नर अखाड़ा के पास 12 महामंडलेश्वर, मंडलेश्वर, पीठाधीश्वर और महंत है. 12 फरवरी तक कई प्रदेशों में किन्नर अखाड़ा के पदाधिकारी बनाए जाएगे. इस दौरान उत्तर भारत प्रभारी महामंडलेश्वर भवानी मां, कामिनी मां, पवित्रा मां, वंशिका समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे.