-पीवीवीएनएल के एमडी ने जारी किया निर्देश

-प्रत्येक माह के 15 और 25 तारीख को बिल भेजना हुआ तय

-बिजली बिल भेजने में लेट होने पर होगी कार्रवाई

बिजली उपभोक्ताओं को अब बिजली बिल को लेकर ज्यादा परेशान नहीं होना पड़ेगा. पूर्वाचल विद्युत वितरण निगम (पीवीवीएनएल) ने उपभोक्ताओं की समस्या का समाधान कर दिया है. अब उन्हें महीने की 25 तारीख तक हर हाल में बिजली का बिल मिल जाया करेगा. पीवीवीएनएल के एमडी अतुल निगम ने पूर्वाचल के सभी जिलों के अफसरों को निर्देश जारी कर इस माह से यह व्यवस्था लागू करने को कहा है. नई व्यवस्था से जहां उपभोक्ताओं को लेट बिल मिलने की परेशानी से निजात मिलेगी. वहीं विभाग को राजस्व में भी फायदा होगा.

तीन दिन में शॉर्ट आउट हो प्रॉब्लम

एमडी ने सभी एसई, सीई समेत सभी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि उपभोक्ताओं को बिल भेजने के बाद उससे जुड़ी शिकायतें भी तीन से चार दिन में निस्तारित करें, जिससे उन्हें बिल जमा करने में किसी प्रकार की कोई प्रॉब्लम न होने पाए. उन्होंने चेतावनी भी दी है कि इस कार्य में लापरवाही बरतने वाले अफसरों व कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

क्या है मकसद?

अधिकारियों की मानें तो बिजली बिल को लेकर बनाई गई नई व्यवस्था का मकसद उपभोक्ताओं को सही वक्त पर उनके हाथ में बिजली का बिल पहुंचाना है. यह व्यवस्था इसलिए भी है कि उपभोक्ता प्रत्येक माह की अंतिम तारीख तक इस्तेमाल की गई बिजली बिल का भुगतान कर सकें. जिससे उन पर आर्थिक बोझ न बढ़ने पाए. अधिकारियों का कहना है कि कई बार ऐसा होता है जब समय पर बिल न मिलने पर उपभोक्ताओं को अगले माह डबल भुगतान करना पड़ता है, वो भी ब्याज समेत.

ये होगी क्राइटेरिया

- जिन उपभोक्ताओं के कनेक्शन दस किलोवाट से कम होंगे उनके बिल 25 तारीख तक भेजे जाएंगे.

- जिन उपभोक्ताओं के कनेक्शन 10 किलोवाट के होंगे उनके बिल महीने की 15 तारीख तक भेजे जाएंगे.

-नया कनेक्शन लेने वाले उपभोक्ताओं को अब दो माह के अंदर बिल भेजने की व्यवस्था की गई है.

बिजली के बिल को लेकर हर खण्ड में शिकायतें आती रहती थीं. इस समस्या को दूर करने के लिए एमडी की ओर से निर्देश जारी किए गए हैं. इस माह से यह व्यवस्था लागू हो जाएगी.

राकेश सिन्हा, पीआरओ, पीवीवीएनएल