रो¨स्टग फिर बनी समस्या, पौने दस से पौने 12 बजे तक गुल रही बिजली

इसके बाद फॉल्ट ने रुलाया, फॉल्ट कहीं था बंद कर दी कहीं की बिजली

फीरोजाबाद : गुरुवार की रात शहर में अघोषित विद्युत कटौती का सामना किया. पौने दस बजे ऊपर से रो¨स्टग के नाम पर दो घंटे के लिए बिजली बंद कर दी गई. शहरवासी बिजली के इंतजार में छतों पर टहलते रहे. इसके बाद में बिजली आई तो रात में फॉल्ट के नाम पर शहर के कई फीडर को बंद कर दिया गया. डेढ घंटे तक फीडर बंद रहने के बाद पता चला कि फॉल्ट तो दूसरे फीडर पर था. ऐसे में उस फीडर को सूचित किया. देर रात तक बिजली के अभाव में तड़पते शहरवासियों को शुक्रवार को भी कटौती का सामना करना पड़ा.

गुरुवार की रात में पौने दस बजे एकाएक समूचे शहर की बिजली गुल हो गई. शहरवासियों ने विद्युत अफसरों के फोन मिलाए, लेकिन अफसरों के फोन भी नहीं उठे. रात्रि में पौने दस बजे होने वाली कटौती से सर्वाधिक समस्या व्यापारियों को उठानी पड़ी. रात में दुकान बंद कर घर के लिए चले तो अंधेरा राह रोकते हुए नजर आया. व्यापारियों का कहना है विभाग ऊपर से होने वाली कटौती को सुबह के वक्त करे. रात में दस बजे का वक्त कारोबार बंद कर घर लौटने का होता है. इस वक्त कटौती से वारदातों का खतरा बढ़ जाता है. वहीं कटौती से घरों में मौजूद महिला-पुरुष भी परेशान हो गए. बिजली के इंतजार में महिला पुरुष रात 12 बजे तक छतों पर टहलते रहे.

-------

डेढ़ घंटे बाद मालूम पड़ी पुरुषोत्तम विहार पर था फॉल्ट :

रात में तीन बजकर 20 मिनट पर एसएन फीडर पर फिर से शट डाउन ले लिया गया. बताया जाता है पुरुषोत्तम विहार फीडर पर एक तार टूट गया था, लेकिन पुलिस ने खबर एसएन फीडर पर कर दी. ऐसे में शट डाउन ले लिया गया. अवर अभियंता डीके वर्मा द्वारा पेट्रो¨लग कराई तो डेढ़ घंटे बाद पता चला फॉल्ट पुरुषोत्तम विहार फीडर क्षेत्र में हैं. ऐसे में पौने पांच बजे के बाद में यह शट डाउन वापस हुआ, लेकिन रात में दो घंटे की रो¨स्टग एवं डेढ़ घंटे के शट डाउन से घरों में चल रहे इन्वर्टर भी जवाब दे गए.

----------

बरसात ने उड़ाया बिजली का फ्यूज :

शुक्रवार को बरसात ने बिजली का फ्यूज उड़ाया. सुबह नौ बजे से होने वाली बरसात के चलते सवा नौै बजे से 11 तक बिजली गुल रही. इसके बाद में दोपहर में होने वाली बूंदाबांदी के चलते भी बिजली बंद रही. दिन भर फॉल्ट के चलते भी कई क्षेत्रों में बिजली गुल रही.

-----------

झील की पुलिया पर बदलवाया कंडक्टर :

झील की पुलिया पर नए ट्रांसफारमर की केबल में आई खराबी भी विभाग के लिए समस्या बन गई. जानकारी मिलने पर जेई डीके वर्मा ने टीम के साथ में पहुंच कर इस खराबी को ठीक कराया.