फोटो-27 पीआरटी-4

हवाओं का रुख बदलने से हांड़ कंपाने वाली ठंड से मिली राहत

रात और दोपहर के तापमान में काफी अंतर सेहत के लिए खतरा

pratapgarh@inext.co

PRATAPGARH: रिकार्ड तोड़ने के बाद ठंड की गलन में सुधार के लक्षण दिखने लगे हैं. रविवार को धूप और हवाओं का रुख बदलने से गलन भरी ठंड से लोगों ने राहत महसूस की. शनिवार की रात ठंड लगने से एक रिक्शा चालक ककी मौत हो गई. उसकी मौत से परिजनों में कोहराम है. अनुमान लगाया जा रहा है कि यदि ठंड की दशा में सुधार न हुआ होता तो मरने वालों की संख्या और हो गई होती. तापमान में भारी अंतर होने के कारण जिले में सेहत के लिए खतरा उत्पन्न हो गया है.

रास्ते में टूटा दम

नगर कोतवाली क्षेत्र के पूरेमोहन गांव निवासी मोतीलाल (65) रिक्शा चलाकर परिवार का पेट पालता था. शनिवार की रात अचानक उसे ठंड लग गई. हालत गंभीर देख उपचार के लिए परिजन उसे जिला अस्पताल ले आ रहे थे. रास्ते में उसकी मौत हो गई. उसकी मौत से परिवारीजनों में कोहराम मच गया. लोगों का कहना है कि यदि ठंड की दशा में सुधार न होता तो हालात और भी बदतर हो गए होते. आशंका जताई जा रही है कि उस स्थिति में मरने वालों की संख्या काफी बढ़ गई होती. गनीमत रही कि हांड़ कंपाने वाले ठंड बैकफुट पर आ गई.

ठंड के हालात में सुधार

साल के आखिरी हफ्ते में अभी तक कोहरा नहीं पड़ रहा है. इससे अनुमान लगाया जा रहा था कि ठंड कम पड़ेगी. लेकिन हफ्ते भर से रात में चल रही पश्चिमोत्तर हवाओं से पारा एकदम लुढ़क गया था. सनई अनुसंधान केंद्र रिकार्ड पर गौर करें तो शुक्रवार की रात पारा 1.0 डिग्री सेल्सियस पर था. इस बीच शनिवार को आधी रात के बाद हवाओं का रुख बदल गया और दक्षिण पश्चिम हवाएं चलने लगी. जिससे तापमान में उछाल रिकार्ड किया गया. न्यूनतम तापमान 3.0 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 23.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया. जिससे लोगों ने राहत महसूस की.