-चिकित्सा विभाग और युनिवर्सिटी को नहीं जारी किया कोई भी नोटिफिकेशन

-विभाग की ओर से भी इस मामले में कोई नोटिफिकेशन नहीं किया गया जारी

dehradun@inext.co.in

DEHRADUN : यूपीएमटी के लिए अप्लाई करने में कैंडिडेट्स अभी भी कंफ्यूजन में हैं. दरअसल, ओएमआर शीट में एमबीबीएस और बीडीएस के लिए ऑप्शन दिया गया है. किसी एक के चुनाव की स्थिति में स्टूडेंट्स दूसरे ऑप्शन का मौका गवां न दें इसे लेकर स्टूडेंट्स परेशान हैं. विभाग की ओर से भी इस मामले में कोई नोटिफिकेशन अभी तक जारी नहीं किया गया है. क्8 मई को गोविंद वल्लभ पंत युनिवर्सिटी द्वारा प्री-मेडिकल टेस्ट- ख्0क्ब् कंडक्ट कराया जा रहा है.

ऑप्शन का कंफ्यूजन

कैंडिडेट अगर एमबीबीएस ऑप्शन को चुनते हैं और रैंक बेहतर नहीं आई तो वह बीडीएस के लिए अप्लाई नहीं कर पाएंगे और अगर कैंडिडेट बीडीएस का चुनाव करता है और एंट्रेंस में रैंक बेहतरीन आ जाती है. तो वह ऑप्शन सिलेक्शन के चलते एमबीबीएस के लिए अप्लाई नहीं कर सकता है. इसी कंफ्यूजन में कैंडिडेट्स परेशान हैं. फॉर्म में कहीं भी दोनों ऑप्शन को सिलेक्ट करने की जानकारी नहीं दी गई है.

विभाग की कोई नोटिफकेशन नहीं

इस कंफ्यूजन के चलते स्टूडेंट्स जहां परेशान हैं वहीं विभाग की ओर से कोई भी नोटिफिकेशन जारी नहीं किया गया है. एग्जाम कंडक्टिंग युनिवर्सिटी द्वारा भी इस समस्या से संबंधित जानकारी वेबसाइट के माध्यम से नहीं दी गई है. वीआर क्लासेज के मैनेजिंग डायरेक्टर के मुताबिक बच्चे रैंक को लेकर काफी टेंस्ड हैं. रैंक अच्छी होने के बाद भी अगर चुनाव सही नहीं हुआ तो कैंडिडेट्स का फ्यूचर अधर में ही लटक जाएगा.

----------------

दोनों ऑप्शन करें सिलेक्ट

इस मामले को लेकर विभाग का कहना है कि इंफॉर्मेशन ब्रॉशर में सभी जानकारी दी गई हैं. ऑप्शन को लेकर कोई कंफ्यूजन नहीं है. कैंडिडेट्स दोनों ऑप्शन को सिलेक्ट कर सकते हैं. फॉर्म में दोनों ऑप्शन को भरकर फार्म जमा किया जा सकता है. ऑप्शन उन कैंडिडेट्स के लिए हैं जो एक ही कोर्स के लिए अप्लाई करना चाहते हैं. एक्स्प‌र्ट्स की मानें तो यह ऑप्शन और दलील दोनों बेमायने हैं. अगर गौर करें तो एंट्रेंस रिजल्ट के बाद रैंक आने पर यह चुनाव कैंडिडेट खुद ही कर सकता है. ऐसे में ओएमआर शीट पर यह ऑप्शन मीनिंग लेस है.

मेडिकल की तैयारी कर रही हूं. यूपीएमटी के लिए ऑप्शन का चुनाव किया. अभी तक ओएमआर पर कोर्स सिलेक्ट करने के लिए ऑप्शन दिए जाते हैं. एमबीबीएस और बीडीएस का ऑप्शन भी ऐसे ही शो हो रहा है. बिना अच्छी रैंक आए कैसे तय होगा कि बीडीएस में जाना है यह एमबीबीएस करनी है. यह टोटली कंफ्यूजिंग है.

- श्रुति उपाध्याय, स्टूडेंट

नोटिफिकेशन जारी नहीं किया है. इसके पीछे का कारण है कि इंफॉर्मेशन ब्रॉशर पर सभी डीटेल्स मेंशन हैं. फॉर्म पर कैंडिडेट्स कोर्स सिलेक्शन के लिए लिए दोनों ऑप्शन के भर सते हैं.

-डा. एनएस जंगपांगी, अपर निदेशक, चिकित्सा शिक्षा

'एंट्रेंस के फॉर्म में कैंडिडेट्स काफी कंफ्यूज्ड हैं. ओएमआर शीट पर ऑप्शन बेमायने हैं. विभाग या कंडक्टिंग युनिवर्सिटी को इस मामले में नोटिफिकेशन जारी करना चाहिए.'

- वैभव राय, मैनेजिंग डायरेक्टर, वीआर क्लासेज