किस्तों में करना होगा पेमेंट

08 हजार रुपये है मीटर की कॉस्ट. बिल के साथ किस्तों में करना होगा पेमेंट

05 साल का टाइम कंज्यूमर को मिलेगा

60 किस्तों में वूसली जाएगी पूरी कॉस्ट

क्या होता प्रीपेड मीटर

- यह सामान्य मीटर से एकदम अलग होगा.

- मोबाइल की तरह रिचार्ज करना होगा.

- 50 रुपये से कम का रिचार्ज नहीं होगा.

- वेलिडिटी खत्म होने से दो दिन पहले मोबाइल पर आएगा अलर्ट

- अगर फिक्स समय में रिचार्ज नहीं कराया तो सप्लाई हो जाएगी बंद

डिपार्टमेंट्स पर बकाया

एजुकेशन : 5543321

हेल्थ - 432875

विकास : 347565

पीडब्ल्यूडी - 404324

डीएम आवास - 287555

सिटी में कंज्यूमर्स

कंज्यूमर्स : 180654

सब स्टेशन : 24

फीडर : 117

------------------------

- सिटी में अक्टूबर से लगने शुरू होंगे प्री पेड मीटर, फ‌र्स्ट फेज में गवर्मेट डिपार्टमेंट्स से होगी शुरुआत

- सेकेंड फेज में डोमेस्टिक कंज्यूमर्स के यहां लगेंगे, थर्ड फेज में आएगी रूरल एरिया की बारी

बरेली : अगले महीने से सिटी के गवर्मेट ऑफिसों और घरों में प्री-पेड मीटर लगने शुरू हो जाएंगे. एक साल से लटका यह प्रोजक्ट अब फाइनल हो गया है. सबसे पहले गवर्मेट डिपार्टमेंट्स में ये मीटर लगाए जाएंगे. इन मीटर को लगाने के लिए एक ईईएसएल कंपनी से एग्रीमेंट भी हो गया है. पहले फेज के लिए कंपनी 70 मीटर इलेक्ट्रिसिटी डिपार्टमेंट को अवलेबल कराएगी.

तीन फेस में पूरी होगी प्रॉसेस

मीटर लगाने का प्रॉसेस तीन फेस में पूरा होगा. फ‌र्स्ट फेज में गवर्मेट डिपार्टमेंट्स में मीटर लगेंगे. दूसरे फेज में सिटी के डोमेस्टिक कंज्यूमर्स और तीसरे फेज में रूरल एरिया में ये मीटर लगाए जाएंगे.

क्यों पड़ी जरुरत

गवर्मेट डिपार्टमेंट्स पर इलेक्ट्रिसिटी डिपार्टमेंट के करोड़ों रुपये बकाया हैं. गवर्मेट के ऑर्डर के कारण इन डिपार्टमेंट्स की सप्लाई बंद नहीं की जा सकती. ऐसे में इलेक्ट्रिसिटी डिपार्टमेंट को रेवेन्यू का बड़ा नुकसान हो रहा है. प्रीपेड मीटर लग जाने से सभी गवर्मेट डिपार्टमेंट उतनी ही इलेक्ट्रिसिटी यूज कर सकेंगे, जितने का वे रिचार्ज करेंगे.

दो करोड़ मिला बजट

यूपी पॉवर कॉरपोरेशन की ओर से इलेक्ट्रिसिटी डिपार्टमेंट को दो करोड़ का बजट दिया गया है. वहीं जिस कंपनी से इन मीटरों को बनवाया जाएगा, उससे सरकार का करार हो गया है.

वर्जन

प्रीपेड मीटर लगाने का काम अगले महीने से शुरू हो जाएगा. इसके लिए कंपनी से इसी वीक एग्रीमेंट हुआ है. तीन फेज में गवर्मेट डिपार्टमेंट्स में मीटर लगाने का काम किया जाएगा.

एनके मिश्र, एसई, अर्बन.

----------------------

बॉक्स : अब आई ट्रिपिंग फ्री बिजली की याद

बरेली. पिछले 6 मंथ से भारी बिजली संकट से जूझ रहे बरेलियंस को इस संकट से बाहर निकालने के लिए बिजली विभाग को कदम नहीं उठा रहा था. अब जब गर्मी जाने को है तो विभाग ने ट्रिपिंग की समस्या से निजात दिलाने के लिए तारों की गार्डिग कराने की तैयारी की है. जबकि इसके लिए विभाग को बजट इस फाइनेंसियल इयर की शुरुआत में ही मिल गया था. बावजूद इसके गार्डिग का काम अब तक शुरू नहीं हुआ था.