- 28 जुलाई को मसूरी के सिवाय होटल में आयोजित होगी कॉन्क्लेव

- जौलीग्रांट से लेकर मसूरी तक सड़कों से हटेगा अवैध अतिक्रमण व होर्डिग्स

- सभी विभागों की जिम्मेदारियां तय, पालिका व नगर निगम के पास सफाई का जिम्मा

DEHRADUN: 28 जुलाई को मसूरी में आयोजित हो रहे हिमालयी राज्यों के मुख्यमंत्रियों की कॉन्क्लेव को लेकर शासन प्रशासन ने ताकत झोंक दी है. युद्धस्तर पर तैयारियां जोरों पर हैं. सैटरडे को डीएम सी रविशंकर ने कॉन्क्लेव की तैयारियों की समीक्षा बैठक ली. इस दौरान अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए गए कि वे अपनी जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन करें. कॉन्क्लेव को लेकर कुछ दिन पहले चीफ सेक्रेटरी व डीजीपी भी मसूरी का मुआयना कर चुके हैं.

जौलीग्रांट से पोलो ग्राउंड मसूरी तक रोड होगी चकाचक

डीएम ने विभागीय अधिकारियों को कॉन्क्लेव की तैयारियों को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए. उन्होंने पीडब्ल्यूडी को जौलीग्रांट एयरपोर्ट से पोलो ग्राउंड मसूरी और मुख्य इवेंट स्थल होटल सेवाय तक रूट्स को ठीक करने को कहा. इसके साथ ही रूट पर जहां भी बिजली व टेलीफोन के झूलती लाइनों की दिक्कत हैं, उन्हें ठीक करने के लिए यूपीसीएल को कहा. इसके अलावा मेडिकल फैसिलिटी के लिए सीएमओ को एंबुलेंस व मेडिकल टीम की सुविधा तैयार रखने के निर्देश दिए. इस मौके पर एसएसपी निवेदिता कुकरेती, सीडीओ जीएस रावत, डीएफओ राजीव धीमान, एडीएम बीएस बुदियाल आदि अधिकारी मौजूद रहे.

नगर निगम व पालिका को सफाइर् का जिम्मा

कॉन्क्लेव के लिए नगर निगम दून को नगर पालिका मसूरी के साथ जिम्मेदारी सौंपी गई है. नगर निगम दून व नगर पालिका मसूरी को अपने-अपने एरियाज में सफाई रखने के लिए कहा गया है. यह भी कहा गया है कि रूट्स से अनावश्यक व अवैध होर्डिंग्स को हटा दिया जाए.

अवैध होर्डिग्स और अतिक्रमण हटाएं

एसडीएम ऋषिकेश व मसूरी को रूट पर किसी प्रकार के अवैध अतिक्रमण न होने का जिम्मा सौंपा गया है. साफ कह दिया गया कि किसी भी प्रकार का अतिक्रमण हो तो तत्काल हटा दिया जाए. डीएम ने डीआईओ को इवेंट स्थल पर कम्प्यूटर व फोटो कापियर सिस्टम रखने के लिए कहा है. एसडीएम मसूरी को कार्यक्रम स्थल में विभिन्न व्यवस्थाएं जुटाने के लिए समय से पहले तैयारी पूर्ण करने के लिए कहा गया है.

अधिकारी नाम व फोन नंबसर् सौंपेंगे

डीएम ने कहा कि जिन अधिकारियों की तैनाती इवेंट के लिए की गई है, वे जिला प्रशासन को अपने नाम व फोन नंबर सौंपेंगे. सभी कार्यो के संपादन के लिए इवेंट से पहले पूरा होमवर्क किया जाएगा.

::इन राज्यों के सीएम पहुंचेंगे::

- मेघालय के सीएम सीके सांगमा.

- मिजोरम के सीएम जोरामथांगा.

- हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर.

- असम के सीएम सर्वानंद सोनोवाल.

- अरूणाचल के सीएम पेमा खांडू.

- नागालैंड के सीएम एन रियो.

- त्रिपुरा के सीएम बिप्लव कुमार देव.

- जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक.

- मणिपुर के सीएम एन बीरेन सिंह.

- सिक्किम के सीएम का अब तक कन्फर्मेशन नहीं.

वित्त आयोग, पीएमओ व स्टेट के सीएस रहेंगे मौजूद

बताया गया है कि एक दिवसीय कॉन्क्लेव में 15वें वित्त आयोग, पीएमओ ऑफिस, नीति आयोग के साथ ही केंद्रीय मंत्रालयों के सचिवों की मौजूदगी की संभावना है. जबकि इन सभी हिमालयी राज्यों के चीफ सेक्रेटरी भी मौजूद रहेंगे.