नई दिल्ली (एएनआई)। लोकसभा चुनाव में हार के बाद राहुल गांधी अध्यक्ष पद से इस्तीफे पर अड़े हुए हैं। इसके बाद से कांग्रेस नेताओं द्वारा मनाने का सिलसिला जारी है। ऐसे में आज प्रियंका गांधी वाड्रा और राजस्थान के उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट मंगलवार को पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के घर पहुंचे हैं। इस दाैरान हुई बैठक में कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला और पार्टी महासचिव प्रभारी केसी वेणुगोपाल भी मौजूद थे।

नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी पद से हटने का ऐलान

यह बैठक कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की शनिवार को हुई बैठक के बाद हुई क्योंकि राहुल ने सीडब्ल्यूसी की बैठक में लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के निराशाजनक प्रदर्शन की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी पद से हटने का ऐलान किया था। हालांकि राहुल गांधी के इस्तीफे की पेशकश को सर्वसम्मति से सीडब्ल्यूसी द्वारा अस्वीकार कर दिया गया था। सूत्रों की मानें तों वरिष्ठ नेताओं ने राहुल गांधी से उनके फैसले पर पुनर्विचार करने के लिए कहा है। सोमवार को पार्टी के कोषाध्यक्ष अहमद पटेल और वेणुगोपाल ने भी राहुल गांधी से उनके आवास पर मुलाकात की थी और उनसे पार्टी का नेतृत्व जारी रखने की गुजारिश की थी।

सीडब्ल्यूसी की मीटिंग में राहुल ने की इस्तीफे की पेशकशएक बंद दरवाजे की बैठक का सम्मान किया जाए

सूत्रों की मानें तो कांग्रेस इस मोड़ पर पार्टी के पुनर्निर्माण के लिए एक नए नेता को नहीं चुन सकती है। वहीं हार के लिए जिम्मेदारी किसी एक की नहीं बल्कि सामूहिक है। हालांकि कांग्रेस ने घटनाक्रम को अटकलबाजी और अफवाह करार दिया था। कांग्रेस पार्टी ने मीडिया सहित सभी से अपेक्षा की है कि सीडब्ल्यूसी की एक बंद दरवाजे की बैठक का सम्मान किया जाए।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk