कुछ स्थानों पर वैन्यू चेंज करके चलाया गया काम

मजबूरी में कैंसिल करने पड़े कई आयोजन, कुछ आयोजनों का प्लेस हुआ चेंज

PRAYAGRAJ: जब तय हुआ था तब अंदाजा नही था कि श्रीराम मंदिर मामले का फैसला उसी दिन सुनाया जाएगा. लेकिन सुप्रीम कोर्ट का आदेश होने के बाद आनन फानन में संस्थाओं को अपने आयोजनों केा स्थगित करना पड़ा. कुछ को प्लेस चेंज करना पड़ गया तो कुछ प्रोग्राम चेंज शेडयूल के साथ हुए. ईद मिलादुन्नवी के चलते देर रात होने वाली मजलिस और जुलूस पर विशेष निगाह रखी गयी.

फटाफट हुए कैंसिल

शुक्रवार को सोरांव कस्बे में एक आयोजन को लेकर विवाद की स्थिति बनी थी. तब एक पक्ष अपना प्रोग्राम करा रहा था जिसकी परमिशन भी प्रशासन से ली गयी थी. रात में यह सूचना आने के बाद कि राम जन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट सुबह साढ़े दस बजे अपना फैसला सुनाएगा, दूसरे पक्ष के लोगों ने अपना माइक लगाकर प्रोग्राम शुरू कर दिया. पब्लिक ने शिकायत की तो पुलिस ने हस्तक्षेप करके प्रोग्राम को निरस्त करवा दिया. इसके बाद से ही शनिवार को आयोजित होने वाले पब्लिक प्रोग्राम कैंसिल किये जाने की सूचना आनी शुरू हो गयी थी. प्रदेश में धारा 144 लग जाने के बाद आयोजकों ने खुद पचड़े में पड़ने के स्थान पर बीच का रास्ता निकाल लिया.

फैशन शो कैंसिल: यह आयोजन संचारी की तरफ से एनसीजेडसीसी में होना था. यहां फैशन शो के साथ तमाम अन्य काम्पिटिशन होने थे.

भोजपुरी संध्या: इसका आयोजन दुर्गा पूजा पार्क अल्लापुर में किया जाना था. छठ पूजा सकुशल सम्पन्न होने पर आयोजन समिति प्रत्येक वर्ष यह आयोजन करती है. यह आयोजन भी शनिवार को निरस्त कर दिया गया.

एनुअल फेस्ट पोस्टपोन: यह आयोजन रोटरी की तरफ से रविवार को ऋषिकुल पतंजलि स्कूल में किया जाना था. शुक्रवार की सुबह स्कूल प्रिंसिपल की तरफ से मैसेज के थ्रू बताया गया कि इसे कैंसिल कर दिया गया है.

नहीं हुई पैरेंट्स टीचर मिटिंग: झलवा स्थित विष्णु भगवान पब्लिक स्कूल में होने वाली पैरेंट्स टीचर मीटिंग को भी कैंसिल कर दिया गया.

स्वयं का प्रोग्राम हुआ: एमएचआरडी की तरफ से स्वयं कोर्स की डिग्री के लिए होने वाला एग्जाम शनिवार को था. सुबह नौ से 12 बजे तक पेपर होना था. सेंटर बनाया गया था शंभूनाथ इंजीनियरिंग कॉलेज झलवा को. यह आयोजन अपने निर्धारित समय से हुआ.

बज्म ए अदब स्थगित: हमीदिया ग‌र्ल्स डिग्री कॉलेज में 8 से 14 नवंबर के बीच बज्म ए अदब प्रोग्राम आयोजित किया जा रहा है. शनिवार को कॉलेज बंद कर दिया तो यह प्रोग्राम भी स्थगित करना पड़ गया.

बदलना पड़ गया प्रोग्राम वैन्यू

शनिवार को विज्ञान परिषद में उपदेवताओं (किन्नरों) का स्टेट लेवल का प्रोग्राम होना था. वैन्यू बुक होने के साथ कार्ड भी वितरित कर दिये गये थे. आयोजकों का कहना है कि आज सुबह स्थानीय पुलिस ने प्रोग्राम न करने की हिदायत दी. इसके बाद इस वैन्यू को चेंज किया गया क्योंकि चीफ गेस्ट एक दिन पहले ही आ चुके थे. प्रोग्राम शनिवार को पूर्व एमएलसी स्व. ज्ञानचंद्र द्विवेदी के सिविल लाइंस स्थित आवास पर हुआ. चीफ गेस्ट बीओसीडब्ल्यू स्टेट एडवाइजरी बोर्ड के चेयरमैन रघुराज सिंह ने मेराज बानो, विशाखा गौतम, डॉ. योगेश चंद्र त्रिपाठी, कंचन गुप्ता और रमेश सोनकर को उप्र समर्पित सेवा सम्मान से नवाजा. प्रोग्राम में टीना मां, जतिन कुमार, वरुण कुमार, मो. ताहिर, दीपक प्रजापति आदि उपस्थित थे.

Posted By: Inextlive