-नौकर ने एक बदमाश को पहचान होने का किया दावा

-बदमाशों ने खुद को बताया था राहुल खट्टा गैंग के सदस्य

-बदमाशों के फोटों देखकर परिजनों ने किया पहचानने से इंकार

Meerut: पिछले दिनों में कंकरखेड़ा स्थित डिफेंस एंक्लेव में बिल्डर के घर हुई डकैती मामले में नया मोड़ आ गया है. एक ओर जहां परिजनों ने बदमाशों के फोटो देखकर उनका राहुल खट्टा गैंग के सदस्य होने से इनकार किया है. वहीं घर के नौकर ने एक बदमाश की पहचान होने का दावा भी किया है.

क्या है मामला

कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र के डिफेंस एंक्लेव में बी क्97 की सेकंड फ्लोर पर बिल्डर अशोक मारवाड़ी का परिवार रहता है, जबकि ग्राउंड फ्लोर पर ही अशोक ने अपना ऑफिस बना हुआ है. सोमवार को सुबह करीब दस बजे जब बिल्डर अपने नौकरों के साथ ऑफिस में मौजूद थे. उसी समय आई टेन गाड़ी में सवार होकर पहुंचे आधा दर्जन बदमाशों ने बिल्डर की पत्‍‌नी रचना और बच्चों के कमरे में बंधक बनाकर दस लाख की नकदी समेत पंद्रह लाख रुपए के जेवर लूट लिए.

बदमाशों ने खुद को बताया था खट्टा गैंग का सदस्य

परिजनों के मुताबिक बदमाशों ने अपने आप को राहुल खट्टा गैंग का सदस्या बताया था. इसी के आधार पर मामले की खोजबीन में जुटी कंकरखेड़ा पुलिस ने बिल्डर व उसके परिजनों को खट्टा गैंग से जुडे़ बदमाशों के फोटो दिखाए. परिजनों ने वारदात में शामिल होने से इनकार कर दिया.

कहीं करीब तो नहीं लुटेरे

परिजनों के मुताबिक घर के सदस्यों से बदमाश जिस तरह का बरताव कर रहे थे. उससे साफ है कि बदमाशों की कोई क्रिमिनल हिस्ट्री नहीं है. पुलिस के मुताबिक, बदमाश भी बिल्डर के सर्किल से जुड़े हुए हैं. एक बदमाश की पहचान बिल्डर के नौकर ने की है.

वारदात को अंजाम देने वाले बदमाश जनपद में आसपास के ही हैं. एक लाइन बिल्डर के सर्किल एरिया में भी मिली है, जिस पर जांच की जा रही है. पुलिस ने बिल्डर को सभी बदमाशों के फोटो दिखाए हैं, जिनमें से उन्होंने किसी भी बदमाश की पहचान करने से इनकार कर दिया.

ओपी सिंह, एसपी सिटी.