इंडियन ग‌र्ल्स इंटर कॉलेज के सामने फिर छात्राएं उतरीं सड़क पर

चक्काजाम व प्रदर्शन में शािमल पांच अभिभावक शांति भंग में चालान

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: इंडियन ग‌र्ल्स इंटर कॉलेज के सामने एक बार फिर कॉलेज में बिजली, पानी व टायलेट जैसी मूलभूत सुविधाओं की मांग को लेकर छात्राओं के अभिभावकों ने चक्काजाम कर प्रदर्शन किया. प्रदर्शन कर अभिभावकों ने कॉलेज प्रबंधन समिति के खिलाफ अपना आक्रोश जताया तो वहां पर हड़कंप मच गया और आवागमन पूरी तरह से बाधित हो गया. मौके पर पहुंचे पुलिस के आला अधिकारियों ने सख्त रवैया अख्तियार करते हुए पांच अभिभावकों के खिलाफ 151 में मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया.

निलंबन ने बढ़ा दिया आक्रोश

कॉलेज में मूलभूत सुविधाओं की मांग को लेकर आठ जुलाई को छात्राओं ने चक्काजाम कर दिया था. उसके बाद एक शिक्षिका को प्रबंधन समिति ने निलंबित कर दिया. शनिवार को जब सुबह दस बजे छात्राएं अपनी क्लास में पहुंची तो एक बार फिर सुविधाओं के लिए तरसना पड़ा. इस पर छात्राओं ने अपने अभिभावकों को फोन कर बुला लिया. अभिभावकों ने प्रिंसिपल नीलम भूषण से मिलने का प्रयास किया तो प्रिंसिपल ने मिलने से इंकार कर दिया. इस पर कॉलेज परिसर में ही अभिभावक उग्र हो गए और नारेबाजी करते हुए बाहर निकल आए. उसके बाद अभिभावकों ने कॉलेज गेट के बाहर चक्काजाम कर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया.

कोतवाली में चली पंचायत

प्रदर्शन के दौरान मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने कॉलेज की प्रिंसिपल नीलम भूषण और प्रबंधक प्रदीप चटर्जी, कई शिक्षिकाओं सहित अभिभावकों को पकड़ लिया. सभी को कोतवाली में बैठाया गया. मामला तूल पकड़ने लगा तो कोतवाली में सिटी मजिस्ट्रेट रजनीश मिश्रा भी पहुंचे. जहां अभिभावकों ने कॉलेज प्रबंधन पर सुविधाएं ना देने और बच्चों का भविष्य खराब करने का आरोप लगाने लगे. शिक्षिकाओं की मानें तो प्रबंधक ने शिक्षिकाओं के साथ मिलकर अभिभावकों द्वारा कॉलेज को बदनाम करने की बातें कही.

मजिस्ट्रेट ने दी चेतावनी

पंचायत के दौरान सिटी मजिस्ट्रेट श्री मिश्रा ने कॉलेज के प्रबंधक व प्रिंसिपल को चेतावनी दी कि इस तरह से बार-बार प्रदर्शन किया गया तो उनके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी. श्री मिश्रा ने प्रबंधक से दो टूक कहा कि कॉलेज में मूलभूत सुविधाओं के लिए अलग से बजट की व्यवस्था की जाए.

कॉलेज में मूलभूत सुविधाओं को लेकर बार-बार प्रदर्शन किया जा रहा है. जिसकी वजह से जनमानस को परेशानी का सामना करना पड़ा. इसको लेकर कॉलेज प्रबंध तंत्र को चेतावनी दी है और सुविधाओं के लिए बजट की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है.

रजनीश मिश्रा, सिटी मजिस्ट्रेट