-नगर विधायक की कॉलोनी में सड़कों पर बह रहा पानी, नहीं हो रहा समाधान

-नगर आयुक्त को लिखित पत्र देने के बाद भी नहीं हुआ सुधार

GORAKHPUR: सिटी की गलियां हो या स्कूल। सब जगह व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए अफसरों पर नकेल कसने वाले नगर विधायक की नजर अपने वार्ड पर ही नहीं है। खुद की कॉलोनी में गंदा पानी सड़कों पर बह रहा है लेकिन उसका समाधान नहीं हो पा रहा है। वहीं, सिटी में स्वच्छता योजना का लाभ पब्लिक को दिलाने का दावा करने वाले नगर निगम को भी दाउदपुर और गोपलापुर मोहल्ले की दशा नहीं दिख रही है। इससे लोगों को घरों से निकला दूभर हो चुका है। नाली की सफाई न होने से मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है।

वार्ड नंबर 46 और वार्ड नंबर 15 गोपलापुर इलाके में नाली का गंदा पानी सड़कों पर बह रहा है। दाउदपुर मोहल्ले वालों ने तीन सूत्रीय मांग को लेकर नगर आयुक्त से मुलाकात भी की। बताया कि समय-समय पर सफाई कर्मियों द्वारा नाली की सफाई न होने से नाली चोक है। जगह-जगह कूड़ा पड़ा रहता है। सफाई के लिए जब जिम्मेदारों से फोन पर बात की जाती है तब वह डेट पर डेट देकर पल्ला झाड़ लेते हैं। मोहल्ले वालों ने नगर आयुक्त को ज्ञापन देकर समस्या से छुटकारा दिलाने की गुहार लगाई। इतना ही नहीं उन्होंने सड़क पर उतर कर नगर निगम प्रशासन के खिलाफ धरना-प्रदर्शन करने की चेतावनी भी दी है।

मोहल्ले वालों की तीन मांगें

-वार्ड नंबर 46 दाउदपुर, वार्ड नंबर 15 गोपलापुर शिवमंदिर के आसपास नाली का पानी सड़कों पर बह रहा है, जिसे तत्काल सही कराया जाएं।

-मच्छरों से पनपने वाली बीमारियों से बचने के लिए दवा का छिड़काव हर हफ्ते कराया जाएं।

-भविष्य में नाले का पानी सड़क पर न बहे इसके लिए नाले के पानी के निकासी के लिए तत्काल जन निकासी की व्यवस्था की जाए।

-----------------

कोट

नाले की सफाई न होने से बिना बरसात के जाम नाले का पानी दरवाजे पर लगा रहता है। बगल में सफाई कर्मी कूड़ा गिरा देते हैं। मना करने पर लड़ाई करने को तैयार हो जाते हैं।

नीष ओझा

नालियों के बराबर जाम होने से हमारे दरवाजे पर नाली का गंदा पानी लगा रहता है। नाले का गंदा पानी सड़कों पर भी बहता रहता है। गंदगी और गंदे पानी की वजह से संक्रामक बीमारियों की चपेट में लोग आ जाते हैं।

संताेष चौहान

नाले के पानी की निकासी ठीक न होने से घरों में गंदा पानी लगा रहता है। साफ-सफाई तो कभी होती नहीं है। एक बार सफाई होती भी है तो दुबारा कोई पलट कर नहीं देखता।

नंद जायसवाल

बगल की नालियां सफाई करते वक्त टूट गई है। जिसे आज तक निर्माण नहीं कराया गया। टूटी नालियों के कारण गंदा पाली दरवाजे के सामने लग जाता है। इससे घरों से निकलना मुश्किल हाे जाता है।

साकेत यादव

वर्जन

मामला मेरे संज्ञान में है। दाउदपुर नाले की सफाई कराई जा रही है। सफाई होने के बाद लोगों को जल जमाव से मुक्ति मिल जाएगी।

ीके सिन्हा, अपर नगर आयुक्त

विधायक का वर्जन

Posted By: Inextlive