लखनऊ (आईएएनएस)। कांग्रेस नेता और केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी 10 जुलाई को अमेठी आएंगे। हाल ही में लोकसभा चुनावों में हारने के बाद और कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद यह उनकी पहली अमेठी यात्रा होगी। कांग्रेस सूत्रों के अनुसार  राहुल गांधी अमेठी यात्रा के दाैरान कोई भी सार्वजनिक सभा संबोधित नहीं करेंगे ।

राहुल का पारिवारिक गढ़ हुआ करता था अमेठी

राहुल अमेठी में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ सिर्फ बैठक करेंगे। राहुल के साथ उनकी बहन व कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के भी होने की संभावना है। राहुल गांधी की यात्रा इस बात का स्पष्ट संकेत है कि उन्होंने अमेठी नहीं छोड़ा है। भले ही आज अमेठी भाजपा की स्मृति ईरानी का निर्वाचन क्षेत्र है लेकिन कभी यह राहुल गांधी का पारिवारिक गढ़ हुआ करता था। राहुल गांधी के बाद अब मिलिंद देवड़ा ने मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा

कर्नाटक संकट : कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन से अब कांग्रेस के 21 मंत्रियों ने दिया इस्तीफापार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने की कोशिश

इस संबंध में कांग्रेस एमएलसी दीपक सिंह ने कहा है कि राहुल ने हमेशा अमेठी को अपना परिवार माना है। ऐेस में वह अपने परिवार के लोगों  से मिलने आ रहे हैं। यह राजनीतिक यात्रा नहीं है बल्कि यह पार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने के लिए की जा रही है। 17वीं लोकसभा चुनाव में अमेठी से राहुल गांधी के हारने के बाद पार्टी कार्यकर्ता निराशा में डूब गए हैं।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk