-रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने बातचीत में किया स्वीकार

-पत्रकारों ने किया सवाल तो मंत्री ने दिया जवाब

-कहा, एक तरफ से लोग आ रहे थे तो दूसरी ओर से भी कैसे हुई इंट्री

-जीएम ने किया रेलवे का बचाव

<-रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने बातचीत में किया स्वीकार

-पत्रकारों ने किया सवाल तो मंत्री ने दिया जवाब

-कहा, एक तरफ से लोग आ रहे थे तो दूसरी ओर से भी कैसे हुई इंट्री

-जीएम ने किया रेलवे का बचाव

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: पिछले साल कुंभ मेले के दौरान मौनी अमावस्या के दिन इलाहाबाद जंक्शन पर हुए हादसे में ख्म् लोगों की मौत के लिए कौन दोषी है? अभी ये तय नहीं हो सका है? न्यायिक आयोग अपनी रिपोर्ट लगा चुका है, तो रेलवे अभी जांच चलने की बात कह रहा है. गुरुवार को इलाहाबाद आए रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा पत्रकारों से रूबरू हुए और पत्रकारों ने घटना का जिक्र किया तो उन्होंने माना कि कुंभ में हुई घटना के लिए रेलवे दोषी है.

प्लानिंग में थी कमी

रेल राज्य मंत्री से जब मीडिया के लोगों ने कुंभ के दौरान हुए हादसे में अभी तक कार्रवाई न होने का जिक्र किया तो रेल मंत्री ने कहा, रेलवे के प्लानिंग में कहीं न कहीं से चूक हुई थी. जिसकी वजह से ये हादसा हुआ. जहां तक मुझे जानकारी है, एक तरफ से पब्लिक की इंट्री कराने और दूसरी ओर से उन्हें बाहर निकालने का प्लान था. ऐसे में सवाल ये उठता है कि जब एक ओर से पब्लिक आ रही थी तो दूसरी ओर से भी इंट्री कैसे हुई? अगर हुई तो इसे रोकने और कंट्रोल करने के लिए तत्काल कार्रवाई क्यों नहीं हुई. रेलवे की कमियों को स्वीकार करने के बाद रेल राज्यमंत्री ने कहा कि इलाहाबाद में आगे भी कुंभ मेला होगा. यहां भीड़ आती रहेगी. आगे इस तरह की कोई घटना न हो, इसलिए ख्0क्9 को ध्यान में रखते हुए परियोजना बनाई गई है.

न्यायिक आयोग तो कहता है रेलवे दोषी है

मीडिया के लोगों ने एनसीआर के जीएम से पूछा कि न्यायिक आयोग का कहना है कि ख्0क्फ् में हुई घटना के लिए रेलवे जिम्मेदार है? एक तरफ से लोग आ रहे थे तो दूसरी ओर से इंट्री देना दुर्घटना का कारण बना. जवाब में एनसीआर के जीएम प्रदीप कुमार ने कहा कि न्यायिक रिपोर्ट के बारे में हमें जानकारी नहीं है. हमने भी ये सब बातें केवल अखबार में पढ़ी है. जीएम प्रदीप कुमार से जब पूछा गया कि रेलवे की जांच में क्या सामने आया है तो उन्होंने जवाब दिया कि शहर की ओर से जंक्शन पर पब्लिक की इंट्री कराने और सिविल लाइंस एरिया से पब्लिक को बाहर निकालने का ट्रैफिक प्लान तैयार किया गया था. सिविल लाइंस की ओर से इंट्री नहीं होनी थी. सिविल लाइंस की ओर से भीड़ आई, जिसकी वजह से ये हादसा हुआ.

इस सवाल का नहीं दे सके जवाब

मीडिया के लोगों ने रेल राज्य मंत्री के साथ मौजूद जीएम प्रदीप कुमार से सवाल किया कि रेलवे ने कुंभ मेले के दौरान वादा किया था कि ख्0-ख्0 मिनट पर ट्रेन चलती रहेगी. ताकि भीड़ इकट्ठा न हो, फिर भी दुर्घटना वाले दिन दो-ढाई घंटे का गैप कैसे हुआ? जीएम ने कहा ये आरोप गलत है. ट्रेनें अपने टाइम टेबल के हिसाब से ही चल रही थीं.