JAMSHEDPUR: बंगाल की खाड़ी में उठे समुद्री तूफान एम्फन के कारण लौहनगरी समेत पूरे कोल्हान में दिनभर बारिश होती रही। बुधवार को दिन भर में लौहनगरी में 49.3 मिमी बारिश हुई। इससे शहर का तापमान भी 13.4 डिग्री नीचे गिर गया है। बुधवार को शहर का न्यूनतम तापमान 21.2 डिग्री सेल्सियस तो अधिकतम तापमान 25.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बुधवार को भोर से मौसम का मिजाज बदल गया था, तेज हवा चलने के साथ ही बारिश शुरू हुई जो दिनभर होती रही। इस दौरान शहरी क्षेत्र में 30 से 35 किलोमीटर प्रतिघंटे के रफ्तार से हवा चली। शहर के बाहर ग्रामीण क्षेत्रों में हवा की रफ्तार 40 किलोमीटर प्रतिघंटा थी। तेज हवा चलने के कारण बिष्टुपुर, टेल्को, सर्किट हाउस एरिया, जुबिली पार्क समेत कई इलाकों में पेड़ व पेड़ की डालियां टूटकर गिरी, जिससे आवागमन में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

24 घंटे रहेगा असर

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार समुद्री तट से टकराने के पहले ही एम्फन तूफान ने विकराल रूप ले लिया था। समुद्री तूफान का केंद्र ¨बदु जमशेदपुर से करीब 240 किलोमीटर दूर स्थित है, जो 160 से 170 किलोमीटर की रफ्तार से उत्तर और उत्तर-पूर्व दिशा की ओर बढ़ रहा है। समुद्री तट से टकराने के बाद तूफान की रफ्तार कम होने की संभावना जताई जा रही है। समुद्री तूफान का अधिक असर पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटवर्ती इलाकों में देखा जा रहा है। मौसम विभाग की मानें तो तूफान का असर अगले 24 घंटे तक रहेगा। इस दौरान तेज हवा के साथ जोरदार बारिश होगी।

जनजीवन अस्त-व्यस्त

बुधवार को शहर में दिन भर बारिश हुई। सुबह से ही आसमान में काले बादल छाए रहे। पूरे दिन सूरज के दर्शन नहीं हुए। बारिश के कारण रांची से बहरागोड़ा को जोड़ने वाली राष्ट्रीय राजमार्ग 33 समेत शहर की सड़कों पर कई जगह जलजमाव की स्थिति रही। तूफान की वजह से आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। तूफान के कारण हो रही बारिश से सबसे अधिक परेशानी उन प्रवासी मजदूरों को हो रही है, जो अपने घर के लिए निकले हैं। रास्ते में बारिश की वजह से आगे का सफर पूरी नहीं कर पा रहे हैं।

बिजली विभाग को नुकसान

तूफान के कारण बिजली विभाग को भारी नुकसान हुआ है। जमशेदपुर विद्युत डिवीजन व मानगो विद्युत डिवीजन में दर्जनों स्थान पर तार व खंभे टूट गए हैं। इस कारण सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक अधिकांश इलाके में बिजली आपूíत बाधित रही। जमशेदपुर के विद्युत कार्यपालक अभियंता प्रदीप कुमार विश्वकर्मा ने बताया कि 11 केवी बिरसानगर वन में पेड़ की डाली गिरने से बारीडीह, बागुनहातू, भुइयांडीह, मोहरदा, मनीफीट, खडंगाझार, बागबेड़ा, बावनगोड़, गो¨वदपुर, विद्यापति नगर में बिजली गुल रही। इसके अलावा दो नंबर एचटी पोल मेन लाइन आरई फीडर का गोड़डीह के पास गिर जाने के कारण बिजली आपूíत बाधित रही। हालांकि, गो¨वदपुर, जुगसलाई, करनडीह आदि इलाके में शाम छह बजे तक बिजली बहाल कर दी गयी। वहीं दूसरी ओर बिरसानगर, भुइयांडीह में देर रात तक बिजली नहीं आयी। बिजली विभाग के अधिकारियों ने बताया कि तूफान का प्रभाव समाप्त होने पर ही लाइन चालू होगी। वहीं दूसरी ओर तूफान के कारण पूरे मानगो विद्युत डिवीजन में सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक बिजली गुल रही। कुंवरबस्ती विद्युत सब डिवीजन में 12 घंटे बाद रात आठ बजे बिजली आई। मानगो डिवीजन के आनंद विहार कॉलोनी, नर्सरी रोड, भारत पेट्रोल पंप के पास खंभा टूटने से बिजली बाधित रही।

पानी की हुई किल्लत

बिजली नहीं रहने के कारण कई फ्लैटों व मकानों में पानी की किल्लत रही। पूछने पर मानगो चार नंबर निवासी राजू ने बताया कि नहाने के लिए पानी तो था, लेकिन पीने के पानी की किल्लत हो गयी, क्योंकि बिना पावर का मोटर ही नहीं चला।

Posted By: Inextlive

inext-banner
inext-banner