नई दिल्ली (एएनआई)। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए लिंक रोड का उद्घाटन किया। रक्षा मंत्री ने पिथौरागढ़ से गुंजी तक वाहनों के काफिले को भी हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत और थल सेनाध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवाने भी उपस्थित थे। इस संबंध में देश के रक्षामंत्री ने ट्वीट किया, मानसरोवर यात्रा के लिए लिंक रोड का आज उद्घाटन करने की खुशी। सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने धारचूला से लिपुलेख (चीन सीमा) तक सड़क संपर्क हासिल किया।

रक्षा मंत्रालय ने की बीआरओ की सराहना

इस बीच रक्षा मंत्रालय ने भी बीआरओ की सराहना करते हुए कहा है कि उत्तराखंड में सीमा सड़क संगठ ने कैलाश मानसरोवर मार्ग को लिपुलेख दर्रे से जोड़ा है, जो सीमावर्ती गांवों और सुरक्षा बलों को संपर्क प्रदान करेगा। बीआरओ कैलाश मानसरोवर मार्ग को चीन सीमा से जोड़ता है। कोरोना वायरस जैसी महामारी का मुकाबला करते हुए उत्तराखंड में बीआरओ ने कैलाश मानसरोवर मार्ग को 17,060 फीट की उंचाई से लिपुलेख दर्रे से जोड़ा है। कहा जा रहा है कि ये सड़क बनने से भारतीय सेना और अर्द्धसैनिक बलों के जवान चीन बॉर्डर तक 3 दिन के बजाए अब तीन से चार घंटे में पहुंच जाएंगे।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk