छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: बागबेड़ा रेलवे ट्रैफिक कॉलोनी से पिस्तौल और कारतूस के साथ पकड़े गए अमरनाथ गिरी उर्फ लेदा की निशानदेही पर पुलिस टीम ने उसके सहयोगी रवि पात्रो उर्फ रवि बच्चा को गिरफ्तार कर लिया है. वह बागबेड़ा संजय नगर का रहने वाला है. विधि व्यवस्था डीएसपी आलोक रंजन ने बुधवार को पत्रकारों को बताया कि दोनों के खिलाफ आ‌र्म्स एक्ट के तहत बागबेड़ा थाना प्रभारी मदन शर्मा की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया है. दोनों की गतिविधि आपराधिक रही है. पहले भी दोनों जेल जा चुके हैं.

उलझे थे विर्सजन जुलूस में

बता दें कि सोमवार की रात को रेलवे ट्रैफिक कॉलोनी में गणेश पूजा विसर्जन जुलूस में युवकों से दोनों उलझ गए थे. युवकों ने पिटाई कर दी थी. इसके बाद दोनों पिस्तौल लेकर मारपीट करने वालों की तलाश में गणेश पूजा मैदान पहुंचे थे. एक होटल के मालिक को पिस्तौल सटाते हुए जान से मारने की कोशिश की थी, लेकिन गोली मिस फायर हो गई थी. सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची तो दोनों भाग निकले थे. काफी मशक्कत के बाद मंगलवार सुबह लेदा पकड़ा गया. उसकी निशानदेही पर रवि पात्रों की गिरफ्तारी हुई.

लोगों में है दहशत

बागबेड़ा रेलवे ट्रैफिक कॉलोनी में रहने वाले लोग क्षेत्र में आपराधिक गतिविधि को लेकर दहशत में हैं. कॉलोनी और संजयनगर क्षेत्र में अपराधियों का जमावड़ा लगा रहता है. महुवा शराब की दुकानें खुल गई हैं. जुआ अड्डा संचालित हो रहे हैं. कुछ दिन पहले एक युवक को अपराधियों ने चाकू मार दी थी. इससे पहले विभाष पासवान के भाई की हत्या पत्थर से कूचकर अपराधियों ने कर दी थी. स्थानीय लोगों की माने तो पुलिस की अनदेखी इलाके में बड़ी वारदात की आहट दे रही है.