मुंबई (पीटीआई)कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने के लिए हुए लाॅकडाउन से देश की आर्थिक स्थिति पर भी प्रभाव पड़ रहा है। इसी बीच, रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को कर्ज लेने वालों को अत्यधिक राहत प्रदान करने के लिए अगस्त तक तीन महीने के लिए ईएमआई के भुगतान पर रोक बढ़ा दी है। इससे उन लोगों को फायदा होगा, जिनकी आय कोरोना वायरस संकट के कारण प्रभावित हुई है। मार्च में, केंद्रीय बैंक ने 1 मार्च, 2020 से 31 मई, 2020 के बीच सभी टर्म लोन के भुगतान पर तीन महीने की मोहलत दी थी। अब 31 अगस्त को अधिस्थगन समय अवधि समाप्त होने के बाद ही ईएमआई भुगतान फिर से आरंभ होगा।

केंद्रीय बैंक ने घटा दिया था रेपो रेट

इससे पहले, रिजर्व बैंक ने कोरोना के प्रकोप के कारण हुई कठिनाई से निपटने के लिए बेंचमार्क ब्याज दर में यानी कि रेपो रेट घटा दिया था। उसने रेपो रेट में 75 बेसिस प्वाइंट की कटौती कर 4।40 फीसदी कर दिया था। इसके अलावा केंद्रीय बैंक ने 28 मार्च से 1 साल के लिए सभी बैंकों के कैश रिजर्व रेशियो (सीआरआर) को 100 बेसिस प्वाइंट घटाकर 3 प्रतिशत कर दिया।

Posted By: Mukul Kumar

Business News inextlive from Business News Desk

inext-banner
inext-banner