नई दिल्ली (आईएएनएस)। करीब तीन महीने पहले कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया एक बार फिर चर्चा में हैं। सोशल मीडिया में यह खबर तेजी से वायरल हुई कि पार्टी से नाराजगी के कारण सिंधिया ने अपने ट्विटर बायो से 'बीजेपी' को हटा दिया था। हालांकि यह बात झूठी निकली है। खुद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आईएएनएस से इसे अफवाह करार दिया है। सिंधिया ने आईएएनएस से कहा मेरे ट्विटर बायो में कोई चेंज ही नहीं हुआ है। मीडिया में चल रहीं खबरें आधारहीन हैं। अफवाहों पर लोग ध्यान न दें। बीजेपी में आने के समय बायो में जो चीजें थीं, वही अब भी हैं। बीजेपी में आने पर केवल ट्विटर पर फोटो चेंज हुई है।

अपने ट्विटर हैंडल पर केवल पिक्चर बदल दी

ज्योतिरादित्य के ट्विटर हैंडल के इंट्रोडक्शन में दो बातें लिखीं हुई हैं- पब्लिक सर्वेट और क्रिकेट इंथूसिएस्ट। सिंधिया समर्थकों ने कुछ शरारती तत्वों पर इसका आरोप लगाया। हालांकि उनका यह भी कहना है कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है। प्रोफाइल पिक्चर में बीजेपी में शामिल होने के समय की तस्वीर लगी है, जिसमें वह गले में कमल निशान वाला गमछा लगाए मुस्कुरा रहे हैं। वहीं कवर प्रोफाइल की तस्वीर में वह कार पर सवार होकर समर्थकों का अभिवादन स्वीकार कर रहे हैं। आईएएनएस की जांच में पता चला कि 11 मार्च को बीजेपी में शामिल होने के बाद सिंधिया ने अपने ट्विटर हैंडल पर केवल पिक्चर बदल दी थी।

अपने ट्विटर बायो में बीजेपी शब्द नहीं जोड़ा

कांग्रेस में रहते हुए उनके कवर और प्रोफाइल पिक्चर में कांग्रेस का झंडा दिखाया गया था। उन्होंने कहा कि मैंने केवल तभी तस्वीरें बदलीं जब मैं बीजेपी में शामिल हुआ। दरअसल सिंधिया ने कभी भी अपने ट्विटर बायो में बीजेपी शब्द नहीं जोड़ा। इसलिए हटाने का सवाल ही नहीं उठता। सिंधिया ने आखिरी बार बायो में परिवर्तन कांग्रेस छोड़ने के करीब एक महीने पहले किया था। उस समय उन्होंने बायो से कांग्रेस शब्द हटा दिया था। अगर आप सिंधिया के ट्विटर टाइमलाइन को ध्यान से देखें, तो वह लगातार अपनी पार्टी - बीजेपी से जुड़ी जानकारी को रीट्वीट कर रहे हैं। पिछले 2-3 दिनों में उन्होंने उनकी पार्टी से जुड़ी कई जानकारी साझा की है।

Posted By: Shweta Mishra

National News inextlive from India News Desk