ओएमआर सीट में परीक्षक ने भरा गलत गोला, परीक्षा नियामक ने रोका रिजल्ट

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: कई बार परीक्षाओं के दौरान परीक्षक की लापरवाही भी परीक्षार्थी पर भारी पड़ जाती है. ऐसा ही एक मामला यूपीटीईटी के रिजल्ट में सामने आया है. यहां संतोष कुमार नाम के प्रतियोगी का रिजल्ट ही इनवैलिड हो गया है. अभ्यर्थी ने जब जानकारी एकत्र की तो पता चला कि परीक्षा के दौरान क्लास में तैनात परीक्षक की लापरवाही ने उसका रिजल्ट रोक दिया है. अब अभ्यर्थी परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय के चक्कर लगा रहा है, लेकिन फिलहाल कोई राहत मिलती नहीं दिख रही है.

परीक्षक की अच्छी नियत से मुसीबत

ओएमआर सीट का गलत गोला भरने से रिजल्ट रुकने से परेशान अभ्यर्थी संतोष कुमार ने बताया कि इस संबंध में उन्होंने संबंधित कक्ष निरीक्षक से बात की. कक्ष निरीक्षक ने बताया कि ओएमआर सीट जमा करने के बाद उनकी नजर लैंग्वेज कालम पर पड़ी. उन्हें उसमें गोला खाली दिखा. इसको गलती से उन्होंने भर दिया. बाद में ध्यान से देखने पर गलती का अहसास हुआ तो काट दिया. अभ्यर्थी का कहना है कि परीक्षक की गलती की सजा उसे क्यों मिलनी चाहिए. उसका परिणाम जारी होना चाहिए. उन्होंने परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय में सचिव से मिलकर बात करने का प्रयास किया, लेकिन उनकी तरफ से कोई रिस्पांस नहीं मिला.

मामला संज्ञान में आया है, लेकिन इस बात का कोई साक्ष्य नहीं है. ऐसे में रिजल्ट रिवाइज करना संभव नहीं है.

अनिल भूषण चतुर्वेदी

सचिव, परीक्षा नियामक प्राधिकारी