नई दिल्ली (पीटीआई)। कंज्यूमर प्राइज इंडेक्स (सीपीआई) पर आधारित खुदरा महंगाई पिछले महीने जुलाई में 5.59 प्रतिशत पर थी जबकि अगस्त 2020 में 6.69 प्रतिशत पर थी। नेशनल स्टेटिस्टिकल ऑफिस (एनएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, खाने-पीने की चीजों की महंगाई अगस्त में 3.11 प्रतिशत पर थी। जबकि तुलनात्मक महीने में यह 3.96 प्रतिशत पर थी। रिजर्व बैंक ने अगस्त के महीने में अपनी मौद्रिक समीक्षा के दौरान प्रमुख ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया था।
2021-22 में महंगाई दर 5.7 प्रतिशत!
हर दो महीने में हाेने वाली अपनी मौद्रिक समीक्षा के दौरान आरबीआई ने खासकर सीपीआई को ध्यान में रखा था। आरबीआई का अनुमान है कि 2021-22 के दौरान सीपीआई आधारित महंगाई दर 5.7 प्रतिशत रहेगी। दूसरी तिमाही में 5.9 प्रतिशत, तीसरी तिमाही में 5.3 प्रतिशत तथा चौथी तिमाही में 5.8 प्रतिशत रहेगी। 2022-23 की पहली तिमाही में अनुमानित महंगाई दर 5.1 प्रतिशत पर रहेगी।

Business News inextlive from Business News Desk