-पुलिस ने ई-रिक्शा चालक की पत्‌नी की तहरीर पर लिखी रिपोर्ट

-मेडिकल कराने के बाद साथी छात्रों को थाने से छोड़ा

bareilly@inext.co.in

BAREILLY: प्रेमनगर के लल्ला मार्केट के पास संडे रात रईसजादों ने तेज रफ्तार कार से जमकर कहर मचाया था, लेकिन पुलिस ने इसमें आरोपियों पर ही मरहम लगाने का काम किया. पुलिस ने एक तो सिर्फ गाड़ी नंबर के आधार पर अज्ञात चालक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की, जबकि पुलिस हिरासत में लिए गए छात्रों ने बता दिया था कि कार कौन चला रहा था. यही नहीं पुलिस ने छात्रों का मेडिकल देरी से कराया, जिससे सिर्फ दो की रिपोर्ट में ही एल्कोहल निकला. पुलिस ने उनका दफा 34 में चालान कर छोड़ दिया. हादसे में घायल ई-रिक्शा चालक की हालत गंभीर बनी है.

डॉक्टर का बेटा चला रहा था कार
बता दें कि सन सिटी विस्तार निवासी टीचर का बेटा अपने चार दोस्तों के साथ जंक्शन से दारू पार्टी करके लौट रहा था. कार को एक डॉक्टर का बेटा चला रहा था. लल्ला मार्केट के पास तेज रफ्तार कार बजरी पड़ी होने से अनियंत्रित हो गई और फिर कार ने ई-रिक्शा और बाइक में टक्कर मार दी थी. हादसे के बाद ड्राइवर मौके से भाग गया था. पब्लिक ने कार में सवार एक युवक की पिटाई भी की थी और मौके से 4 युवकों को पकड़ा गया था. इस मामले में इंस्पेक्टर बलवीर सिंह बग्गा का कहना है कि कोई भी एफआईआर दर्ज नहीं करा रहा था, क्योंकि सभी को हर्जाना मिल रहा था. ई-रिक्शा चालक की पत्‌नी को बुलाकर नंबर के आधार पर एफआईआर दर्ज करायी है.