- छीपी टैंक वाले समझौते से कोई समझौता नहीं

- तीन वर्ष पहले माहौल गरमाने के बाद किया गया था समझौता

Meerut: पूरे रमजान माह में नौचंदी थानाक्षेत्र के छीपी टैंक स्थित सड़क पर तरावीह की नमाज नहीं पढ़ी जाएगी. विवाद से बचने के लिए पुलिस ने पुराने समझौते को ही बरकरार रखना मुनासिफ समझा. तीन वर्ष पूर्व रमजान माह में उस जगह पर विवाद गहराने से माहौल गरमा गया था. जिसके बाद वहां पर नमाज न पढ़ने का समझौता किया गया. यह क्षेत्र अतिसंवेदनशील होने की वजह से वहां पर रमजान माह भर विशेष रूप से पुलिस की तैनाती रहेगी. पुलिस को निर्देश दिए गए हैं कि नमाज के समय विशेष रूप से निगरानी रखी जाए.

एसएसपी ने मांगी थी रिपोर्ट

छीपी टैंक स्थित शिव चौक के पास मस्जिद के बाहर सड़क पर नमाज पढ़ने को लेकर तीन वर्ष पूर्व माहौल गरमा गया था. समुदाय आमने-सामने आ गए थे. भारी पुलिस तैनात की गई थी. तब समझौते के तहत यह निर्णय लिया गया कि बाहर सड़क पर तरावीह की नमाज नहीं पढ़ी जाएगी. एसएसपी जे रविंदर गौड़ ने नौचंदी थाना पुलिस से समझौते की रिपोर्ट मांगी थी. जिस पर समीक्षा करने के बाद उन्होंने इस बार भी समझौते के तहत ही चलने का निर्णय लिया. उन्होंने कहा कि जो समझौता हो चुका है उसे बदला नहीं जाएगा. वहां पर पूरे माह पुलिस तैनात रहेगी. नमाज के समय विशेष तौर पर निगरानी करने के निर्देश दिए गए हैं. किसी भी तरह की अप्रिय बात को लेकर तुरंत आला अधिकारियों को सूचित करने के निर्देश दिए गए हैं.

जो समझौता है उसी को पालन किया जाएगा. उसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है. पूरे माह के लिए पुलिस तैनात रहेगी. संदिग्ध जगहों पर पुलिस की खास नजर है.

- जे रविंदर गौड़, एसएसपी